पूर्वोतर राज्यों में उत्साह से मना क्रिसमस

आईजोल/कोहिमा/अगरतला : पूर्वोत्तर भारत में बुधवार को क्रिसमस गिरिजाघरों और घरों में विशेष प्राथर्नाओं और पूजा कार्यक्रमों के साथ मनाया गया। मिजोरम, नागालैंड, मेघालय और मणिपुर में 53 लाख से ज्यादा ईसाई लोग रहते हैं।

क्रिसमस का जश्न मंगलवार आधी रात से से ही शुरू हो गया था।

आईजोल में पुलिस अधिकारियों ने कहा कि क्रिसमस समारोह लोगों ने शांतिपूर्ण ढंग से मनाया।

वरिष्ठ पुलिस अधिकारी एल.आर. डिंगलियाना सैलो ने पत्रकारों को बताया, "राजधानी (आइजोल) और म्यांमार और बांग्लादेश की सीमा से लगते राज्य के अन्य इलाकों में यह त्योहार शांतिपूर्ण ढंग से मनाया जाए इसके लिए कड़े सुरक्षा प्रबंध किए गए।"

पूर्वोतर राज्यों के मुख्यमंत्री और राज्यपालों ने लोगों को क्रिसमस की बधाई दी।

पूर्वोतर राज्यों के लोगों के जीवन और संस्कृति में मिजोरम, नागालैंड और मेघालय के गिरिजाघरों की सक्रिय भूमिका होती है।

आईजोल में चर्च के प्रमुख जोसंग्लियाना कॉलनी ने पत्रकारों को बताया, "मिजोरम में ईसाई धर्म आधुनिकता के साथ ही महिलाओं की मुक्ति का अग्रदूत है। इसलिए ईसाई मिशनरियों को आधुनिकता, महिलाओं के प्रति पुरुषों के रूढ़िवादी रवैये में क्रमिक परिवर्तन के प्रतीक के रूप में देखा जाता है।"

वहीं, त्रिपुरा के बिजली मंत्री माणिक डे ने आईएएनएस को बताया, "त्रिपुरा सरकार ने क्रिसमस के अवसर पर मिजोरम, मेघालय और अन्य पूर्वोतर राज्यों को बिजली की आपूर्ति की है।"

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

 

POPULAR ON IBN7.IN