पूर्वोत्तर राज्य मिजोरम में कांग्रेस को बढ़त

आईजोल : मिजोरम विधानसभा चुनाव की मतगणना के शुरुआती रुझान में सत्तारूढ़ कांग्रेस 16 में से 13 सीटों पर आगे चल रही है। यहां सुबह आठ बजे मतगणना शुरू हुई। कांग्रेस ने एक सीट पर जीत भी दर्ज कर ली है।

राज्य निर्वाचन आयोग के एक अधिकारी ने संवाददाताओं को बताया कि दक्षिण तुईपुई सीट पर कांग्रेस उम्मीदवार जॉन सियाकुंगा ने जीत दर्ज की है, उन्होंने जोरम नेशनलिस्ट पार्टी (जेडएनपी) के जे.लालचुआना को 1,568 वोट के अंतर से हराया है।

निर्वाचन आयोग के मुताबिक मिजो नेशनल फ्रंट (एमएनएफ) के नेतृत्व में विपक्षी मिजोरम डेमोक्रेटिक एलायंस सिर्फ दो सीटों पर बढ़त बनाए हुए है।

ये सभी 16 सीटें सीमावर्ती म्यांमार और बांग्लादेश से सटे दक्षिण और उत्तरी इलाके के हैं।

2008 विधानसभा चुनाव के विपरीत दक्षिण मिजोरम में कांग्रेस ने अच्छा प्रदर्शन किया है।

40 सदस्यीय विधानसभा के लिए 25 नवंबर को कराए गए मतदान में राज्य के 81 फीसदी से अधिक मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया था।

यहां डाक मतपत्रों की गिनती पहले हो रही है, जिसके बाद इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) के मतों की गिनती होगी।

मतगणना में 142 मतदाताओं के भाग्य का फैसला होगा, इनमें छह महिला उम्मीदवार भी शामिल हैं।

मुख्यमंत्री ललथनहावला दो सीटों सरछिप और इसके नजदीकी सीट हैरंगटुजरे से उम्मीदवार हैं, जबकि विपक्षी एमएनएफ के प्रमुख जोरामथांगा तुईपुई पूर्व से किस्मत आजमा रहे हैं।

राज्य में मुख्य मुकाबला कांग्रेस और विपक्षी गठबंधन मिजोरम डेमोक्रेटिक एलायंस के बीच है। मिजोरम डेमोक्रेटिक एलायंस में एमएनएफ, मिजोरम पीपुल्स कांफ्रेंस और मारालैंड डेमोक्रेटिक फ्रंट शामिल हैं।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा), जोरम नेशनलिस्ट पार्टी (जेडएनपी) और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) भी चुनाव लड़ रही है।

40 में 39 सीट जनजातीय उम्मीदवारों के लिए आरक्षित हैं जबकि सिर्फ एक सामान्य वर्ग की सीट है।

2008 विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को 32 सीटों पर जीत हासिल हुई थी।

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

 

POPULAR ON IBN7.IN