मुंबई के एलफिंस्टन रेलवे स्टेशन पर भगदड़, 22 की मौत, गुस्साए लोगों ने कहा- यह तो होना ही था

मुंबई: मुंबई में परेल-एलफिंस्टन स्टेशन के पास बने पुल पर ज्यादा भीड़ की वजह से भगदड़ मच  गई जिससे एक बड़ा हादसा हो गया. आज सुबह 10 बजकर 45 मिनट के करीब हुए यह हादसा हुआ.केईएम अस्‍पताल की केजुअल्‍टी से मिले आंकड़ों के अनुसार, अभी तक 22 शव अस्‍पताल में पहुंच चुके हैं और कई लोगों के घायल होने की खबर है जिन्‍हें तुरंत इलाज दिया जा रहा है. यह जानकारी केईएम हॉस्पिटल के सीएमओ प्रवीण बांगर ने दी. आशंका जताई जा रही है कि मृतकों की संख्या और अधिक हो सकती है. घटनास्थल पर एनडीआरएफ की टीम पहुंची चुकी है. 

हादसे को लेकर रेलमंत्री पीयूष गोयल ने उच्च स्तरीय जांच के आदेश दिए हैं. उन्होंने ट्वीट किया है, अभी मुंबई पहुंचा हूं. एल्फिंस्टन रोड फुटओवर ब्रिज पर मची दुर्भाग्यपूर्ण भगदड़ में मासूम जिंदगियों के नुकसान से शोक संतप्त हूं. उन्होंने लिखा है, शोक संतप्त परिवारों के प्रति मेरी गहरी संवेदनाएं. मैं घायलों के जल्दी स्वस्थ्य होने की प्रार्थना करता हूं. गोयल ने ट्वीट किया है, मैंने पश्चिम रेलवे के मुख्य सुरक्षा अधिकारी के नेतृत्व में उच्चस्तरीय जांच के आदेश दिये हैं.

एएनआई के ट्वीट के मुताबिक,  रेलवे के डीजी पीआर ए सक्सेना ने बताया कि अचानक बारिश की वजह से लोग स्टेशन पर ही इंतजार कर रहे थे. जब बारिश रुकी तब लोगों में अफरातफरी मच गई और भगदड़ हो गई. वहीं मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने मृतकों को 5 लाख रुपये देने का ऐलान किया है.
हेल्पलाइन नंबर : 
केईएम हॉस्पिटल: 022-24107000
मुंबई रेलवे कंट्रोल रूम: 022-23081725
 

mumbai
(भीड़ की वजह से मची भगदड़)


गुस्साए यात्रियों और आस पास के लोगों ने कहा, यह तो होना ही था
हादसे गुस्साए यात्रियों और आस पास के लोगों ने कहा कि यह पुल काफी पुराना है और यह काफी संकरा है. यह इतना मजबूत नहीं था कि काफी सारे लोगों को एक साथ संभाल सके. एक स्थानीय आदमी ने कहा कि हादसा कभी भी हो सकता था, इसकी आशंका पहले से थी. लोगों का कहना है कि और पुल बनाए जाने के लिए कई बार मांग की जा चुकी थी.

एक महिला ने कहा कि कोई और चारा नहीं था और हमें यही ब्रिज इस्तेमाल करना पड़ता था. हमारी कोई नहीं सुनता और यह हमेशा से ही ऐसा रहा है. 

 
636422842426313728.
(भगदड़ के बाद का एक दृश्य...)


विजुअल्स में देखा जा सकता है कि लोग जमीन पर गिर गए हैं. कुछ तो हिल भी नहीं पा रहे हैं. लोग उन्हें पानी और फर्स्ट एड देकर सामान्य करने की कोशिश कर रहे हैं. विजुलअल्स में देखा जा सकता है कि लोग घायलों को पुल से नीचे लेकर जा रहे हैं.

बारिश की वजह से लोगों ने रेलवे ब्रिज पर शरण ले रखी थी जिस वक्त यह हादसा हुआ. यह हादसा सुबह 10 बजकर 45 मिनट पर हुआ. यह वह वक्त होता है जब लोअर परेल और एलफिंस्टन स्टेशनों पर काफी भीड़ होती है. न्यूज एजेंसी जीआरपी कमिश्नर निकेत कौशिक के मुताबिक, 20 लोगों को गंभीर रूप से चोटें आई हैं. कई अन्य को मामूली चोटें आई हैं.

कमाल मिल्स कंपाउड जैसे दफ्तरों में काम करने वाले लोग इसी ब्रिज से करते हैं. नीचे दिए गए वीडियो में देखा ज सकता कि कैसे लोग एक दूसरे की मदद कर रहे हैं. एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि यहां बारिश की वजह से भीड़ इकट्ठी हो गई थी. ट्रेन आई तो आगे खड़ी लड़की फिसल गई, इसके बाद पीछे के लोग गिरते चले गए. घटनास्थल पर लोगों की चप्पलें, बैग, सामान गिरा पड़ा है.

POPULAR ON IBN7.IN