आरटीआई कार्यकर्ता पर हमले के लिए शिवसैनिक पार्टी से निष्कासित

लातूर (महाराष्ट्र): आरटीआई कार्यकर्ता मल्लिकार्जुन भायकट्टी के मुंह पर जिन शिवसैनिकों ने शुक्रवार को कालिख पोती थी, उन्हें शुक्रवार को पार्टी से निष्कासित कर दिया गया है। पार्टी नेता आदित्य ठाकरे ने कहा कि अवैध निर्माण के एक बड़े मामले का खुलासा करने के लिए जिन लोगों ने भायकट्टी पर हमला किया था, उन्हें पार्टी से निकाल दिया गया है। भायकट्टी पर हमले का नेतृत्व अभय सालुंखे ने किया था।

ठाकरे ने पार्टी की तरफ से इस शर्मनाक घटना की कड़ी निंदा भी की।

उन्होंने एक बयान में कहा, "लातूर में दुर्भाग्यपूर्ण घटना के बारे में सुना। पार्टी इस शर्मनाक घटना की कड़ी निंदा करती है। इसमें शामिल लोगों को पार्टी से निकाल दिया गया है।"

भायकट्टी ने एक आरटीआई आवेदन के जरिए शहर में एक चार मंजिला छात्रावास के निर्माण में भारी अनियमितता का खुलासा किया है।

भायकट्टी ने एक संवाददाता सम्मेलन में इस अनियमितता का खुलासा किया। संवाददाता सम्मेलन समाप्त होने के बाद कुछ शिवसैनिक उन्हें कॉलेज परिसर में खींच ले गए और उन्हें सबक सिखाने की धमकी दी।

उन्होंने नारेबाजी की और भायकट्टी पर लोहे की छड़ से हमला किया और उनके चेहरे पर स्याही पोत दी। सालुंखे ने आरोप लगाया कि आरटीआई कार्यकर्ता ब्लैकमेलर है।

भायकट्टी को एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उनकी हालत स्थिर बताई जा रही है।

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

POPULAR ON IBN7.IN