सरकारी दल का एफटीटीआई का दौरा, सकारात्मक बातचीत

Pune: SM Khan official of the Information and Broadcasting Ministry addresses press at Film and Television Institute: of India (FTII) Pune on Aug 21, 2015. Pune: SM Khan official of the Information and Broadcasting Ministry addresses press at Film and Television Institute: of India (FTII) Pune on Aug 21, 2015.

पुणे; सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय की तीन सदस्यीय टीम ने शुक्रवार को फिल्म एवं टेलीविजन संस्थान (एफटीटीआई) का दौरा कर सभी संबद्ध पक्षों से बात की। संस्थान के छात्र, अध्यक्ष पद पर अभिनेता और भारतीय जनता पार्टी के सदस्य गजेंद्र चौहान की नियुक्ति के विरोध में आंदोलन कर रहे हैं। केंद्रीय टीम में प्रेस रजिस्ट्रार एस.एम.खान, निदेशक फिल्म्स अनुषा शुक्ला और सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के संयुक्त सचिव एस. नागनाथन शामिल थे।

टीम में शामिल एक अधिकारी ने कहा कि उनकी सभी संबद्ध पक्षों से 'बहुत संतोषजनक बात' हुई है। एफटीटीआई के सभी मुद्दों को समझा गया है।

खान ने बाद में संवाददाताओं से कहा, "हमारी सभी से अच्छी बात हुई है। हमें उम्मीद है कि मसले को बेहतर तरीके से हल कर लिया जाएगा। हम सोमवार को अपनी रिपोर्ट सौंपेंगे और फिर उसी के हिसाब से फैसले किए जाएंगे।"

छात्रों के एक प्रतिनिधि ने कहा, "हमें खुशी है कि टीम आई और उसने हमारी समस्याओं को सुना। हमें उम्मीद है कि सभी मसलों का संतोषजनक समाधान होगा।"

टीम को एफटीटीआई भेजने का फैसला बुधवार की रात संस्थान में हंगामे के बाद पांच छात्रों की गिरफ्तारी से पैदा तनाव के मद्देनजर किया गया। इन छात्रों को बाद में जमानत पर छोड़ दिया गया था।

छात्रों के खिलाफ कार्रवाई एफटीटीआई के निदेशक प्रशांत पाथराबे की इस शिकायत के बाद की गई थी कि छात्रों के एक समूह ने उन्हें बंधक बना लिया है और दफ्तर में तोड़फोड़ की है।

इसके बाद संस्थान में पुलिस और निजी सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए। इन्हें शुक्रवार को संस्थान परिसर से हटा लिया गया।

POPULAR ON IBN7.IN