अंधविश्वास विरोधी दाभोलकर की हत्या

पुणे: पुणे में अंधविश्वास विरोधी, सामाजिक कार्यकर्ता और पत्रकार नरेंद्र दाभोलकर की मंगलवार को मोटर साइकिल सवार अज्ञात बंदूकधारियों ने गोली मारकर हत्या कर दी।

पुलिस ने बताया कि यह घटना सुबह लगभग 7.30 बजे ओमकारेश्वर मंदिर के नजदीक उस वक्त हुई, जब 60-62 साल के दाभोलकर सुबह की सैर पर निकले थे।

दो बंदूकधारियों ने उन पर अंधाधुंध गोलियां चलाईं और फरार हो गए। उन्हें उनके साथ टहल रहे व्यक्तियों ने ससून अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उनकी मौत हो गई।

पुलिस आयुक्त गुलाबराव पोल और अन्य वरिष्ठ अधिकारी फौरन घटनास्थल पर पहुंचे।

पुलिस का दावा है कि उन्हें हत्यारों के खिलाफ कुछ सबूत मिले हैं और उन्होंने बताया कि मृतक के गर्दन एवं पीठ में चार गोलियां लगी हैं।

दाभोलकर की हत्या की निंदा करते हुए राज्य के गृह मंत्री आर.आर. पाटिल ने हत्यारों को जल्द पकड़े जाने का वादा किया है और उनका कहना है कि पुलिस इस दिशा में कार्य कर रही है।

अपने मुखर विचार के लिए प्रसिद्ध दाभोलकर तीन दशकों से अंधविश्वास के खिलाफ अभियान चला रहे थे। उन्होंने कई लोगों को सही दिशा दिखाई थी।

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।