विधानसभा में पारिवारिक मुद्दा उठाने पर भड़के चांडी

केरल के मुख्यमंत्री ओमन चांडी मंगलवार को विधानसभा में विपक्ष पर भड़क उठे, क्योंकि विपक्ष एक मंत्री के पारिवारिक मुद्दे पर चर्चा के लिए स्थगन प्रस्ताव लाने की मांग कर रहा था।

बाद में सभापति द्वारा प्रस्ताव की मांग को खारिज कर दी गई, जिसके कारण विपक्ष सदन से बाहर चला गया।

चांडी ने कहा, "मैं कहना चाहूंगा कि किसी की पारिवारिक दिक्कतों को इस तरह कदापि नहीं उठाना चाहिए। विधानसभा के लिए वास्तव में यह एक काला दिन था।"

यह स्थगन प्रस्ताव वन मंत्री के. बी. गणेश कुमार तथा उनकी पत्नी यामिनी थांकची, जो पेशे से चिकित्सक हैं, के बीच कथित विवाद को लेकर था।

विपक्षी वाम दल, मीडिया रपटों के आधार पर यह स्थगन प्रस्ताव लाना चाहते थे, जिसमें कहा गया था कि वन मंत्री की पत्नी ने मुख्यमंत्री से मिलकर उन्हें एक पांच पन्नों का पत्र सौंपा, जिसमें उन पर पति द्वारा किए जाने वाले दुर्व्यवहार का जिक्र था। लेकिन मुख्यमंत्री ने इसे खारिज कर दिया।

साफ तौर पर नाराज दिख रहे चांडी ने यामिनी से दो बार मुलाकात को तो स्वीकार किया, लेकिन जोर देकर कहा कि उन्हें किसी तरह का पत्र नहीं मिला है। चांडी ने आगे कहा कि मंत्री की पारिवारिक दिक्कतें अब सुलझ गई हैं।

विधानसभा से बाहर जाने से पहले नेता प्रतिपक्ष वी. एस. अच्युतानंदन ने कहा कि इस मुद्दे पर चर्चा होनी चाहिए थी।

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

POPULAR ON IBN7.IN