केरल पुलिस ने बिट्टी के पिता से की पूछताछ

भुवनेश्वर, 16 मार्च (आईएएनएस)| केरल की पुलिस टीम ने ओडिशा में बिट्टी की बाबत जानकारी जुटाने के एक दिन बाद शनिवार को पूर्व पुलिस महानिदेशक विद्या भूषण मोहंती से पूछताछ की, ताकि पता चल सके कि जिस शख्स को उसने गिरफ्तार किया है वह बिट्टी मोहंती ही है। मोहंती को एक जर्मन महिला के साथ दुष्कर्म के आरोप में सजा मिली थी। लेकिन 2006 में पैरोल पर छूटने के बाद से वह फरार था। केरल में वह स्टेट बैंक ऑफ त्रावणकोर में प्रोबेशनरी अधिकारी के रूप में काम कर रहा था। बैंक द्वारा संदेह किए जाने के बाद उसे 8 मार्च को गिरफ्तार किया गया।

केरल की पुलिस टीम ने यहां से 30 किलोमीटर दूर कटक में ओडिशा के पूर्व पुलिस महानिदेशक से पूछताछ की।

जांच दल के एक सदस्य ने बताया कि उन्होंने पर्याप्त सबूत जुटा लिया है जिससे गिरफ्तार व्यक्ति के बिट्टी होने की पुष्टि होती है।

एक जर्मन महिला के साथ दुष्कर्म करने के आरोप में बिट्टी को सर्वप्रथम 21 मार्च 2006 को गिरफ्तार किया गया था और एक अदालत ने उसे 21 अप्रैल को सजा सुनाई थी।

मोहंती को इस दुष्कर्म के आरोप में सात साल कारावास की सजा मिली थी। उसे 2006 में अपनी बीमार मां से भेंट करने के लिए पैरोल पर छोड़ा गया था। तब से वह लापता था। वह कथित रूप से अपनी पहचान छुपाकर केरल में रह रहा था।

केरल पुलिस बिट्टी द्वारा अपना नाम राघव राजन बताए जाने के बाद उसके खिलाफ साक्ष्य जुटाने में लगी है। बिट्टी ने अपने दावे की पुष्टि में पासपोर्ट, मतदाता पहचानपत्र, स्कूल और कॉलेज का प्रमाणपत्र पेश किया था। इनमें से कई प्रमाणपत्रों का संबंध ओडिशा से था।

इससे पहले केरल पुलिस की टीम ने राघव राजन के नाम से जारी बी-टेक प्रमाणपत्र की पड़ताल के लिए एक विश्वविद्यालय का दौरा भी किया था।

पड़ताल के बाद पुलिस ने प्रमाणपत्र को जाली पाया था। केरल पुलिस का मानना है कि मोहंती ने राघव राजन नाम से जाली प्रमाणपत्र बनाया था।

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

 

POPULAR ON IBN7.IN