केरल में हिंसा बंद करें भाजपा, माकपा : कांग्रेस

कांग्रेस ने रविवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी(माकपा) से केरल में तत्काल हिंसा बंद करने का आग्रह किया, जिसमें दोनों दल संलिप्त हैं और राज्य में शांति का माहौल गायब हो गया है। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के एक 34 वर्षीय नेता की शनिवार रात हुई हत्या के बाद भाजपा की राज्य इकाई द्वारा रविवार को आहूत बंद के मद्देनजर कांग्रेस ने दोनों दलों पर हमला किया है।

पुलिस ने माकपा के पांच संदिग्ध कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया है और उनके द्वारा इस्तेमाल किए गए दो वाहनों को जब्त किया है।

भाजपा और वामपंथी दलों द्वारा किए जा रही हिंसा के विरोध में विपक्ष के नेता रमेश चेन्निथला रविवार को दिन भर के उपवास पर बैठे हुए हैं।

चेन्निथला ने कहा, "दोनों पार्टियां (भाजपा-माकपा) को फौरन हथियार रख देने चाहिए, क्योंकि उनके द्वारा शुरू की गई विनाशकारी राजनीति खतरनाक स्तर पर पहुंच गई है।"

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष कुम्मानम राजशेखरन द्वारा घोषित राज्यव्यापी बंद से केरल में सामान्य जनजीवन प्रभावित हुआ है।

भाजपा और आरएसएस के कार्यकर्ताओं के सड़कों पर आ जाने से सार्वजनिक परिवहन पर भी असर पड़ा है।

पिछले दो हफ्तों से कन्नूर में दोनों पार्टियों के बीच राजनीतिक हिंसा जारी है और जिले में अशांति का माहौल बना हुआ है।

माकपा के पार्षद आई. पी. बीनू ने यहां शुक्रवार रात भाजपा के प्रदेश मुख्यालय पर हमला किया, जिसके बाद भाजपा कार्यकर्ताओं ने माकपा के प्रदेश सचिव कोदियेरी बालकृष्णन के बेटे के आवास पर पथराव किया।

चेन्निथला ने कहा कि समय की मांग हिंसा को खत्म करने की है। मुख्यमंत्री पिनरई विजयन और राजशेखरन को साथ बैठकर इस मसले पर बात करनी चाहिए।

पुलिस ने नागरिकों को यह सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं कि वे सोशल मीडिया पर फैलाए जा रहे भ्रामक खबरों पर ध्यान नहीं दें, साथ ही पुलिस ने हिंसा में शामिल लोगों के खिलाफ कड़ी कारवाई करने की भी चेतावनी दी है।

POPULAR ON IBN7.IN