कन्नूर हवाईअड्डे से बदलेगी उत्तरी केरल की तस्वीर

कन्नूर (केरल):  आगामी कन्नूर हवाईअड्डा सितंबर में उद्घाटित होने के बाद पर्यटन से लेकर व्यापारिक गतिविधियों तक हर मामले में उत्तरी केरल की तस्वीर बदल देगा। कन्नूर अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे के प्रबंध निदेशक और एयर इंडिया के पूर्व अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक वी. तुलसीदास ने आईएएनएस को बताया कि काम जारी है और इस साल सितंबर में हवाईअड्डे का व्यावसायिक संचालन शुरू हो जाएगा।

तुलसीदास ने कहा, "हवाईअड्डे पर एक ही समय में 2,000 यात्रियों की व्यवस्था हो सकेगी।"

उन्होंने कहा कि हवाईअड्डे से वायनाड, कन्नूर और कासरगोडे जिलों में पर्यटन गतिविधियों को बढ़ावा मिलेगा।

इन जिलों में कई अनदेखी जगहें हैं, जहां कोझिकोड और मैंगलौर हवाईअड्डों से पहुंचा जा सकता है। लेकिन ये बेहद दूर हैं और इन दोनों हवाईअड्डों के आकार को देखते हुए यहां आने-जाने की समस्या है।

नए हवाईअड्डे से हथकरघा और कपड़ा उद्योग को भी बढ़ावा मिलेगा, क्योंकि कन्नूर के जरिए निर्यात लागत सस्ती होती।

तुलसीदास ने कहा, "हवाईअड्डे में संरक्षण और भंडारण की व्यवस्था भी है, जिसके चलते पुष्पोत्पादन उद्योग को भी बढ़ावा मिलेगा। इससे स्थानीय अर्थव्यवस्था का भी विकास होगा।"

हवाईअड्डे के संचालन की शुरुआत में इसका रनवे 3,050 मीटर लंबा होगा और 18 महीने के भीतर ही इसकी लंबाई बढ़ाकर 3,400 मीटर और बाद में 4,000 मीटर कर दी जाएगी।