केरल में नकदी की भारी किल्लत

 

तिरुवनंतपुरम:  केरल में पिछले दो दिनों से लोगों को नकदी की भारी किल्लत का सामना करना पड़ रहा है। राज्य के वित्त मंत्री थॉमस इसाक ने मंगलवार को कहा कि नकदी की भारी किल्लत है और यह ऐसी अवस्था में पहुंच चुका है कि स्टेट ट्रेजरी के माध्यम से वेतन व पेंशन का भुगतान प्रभावित हो गया है।

राज्य सरकार के अधिकारी तथा पेंशनभोगी सरकारी कोषागार पर ही निर्भर हैं। मंगलवार को राज्य की कई ट्रेजरी के सामने लोगों को पैसों के लिए इंतजार करते देखा गया। राज्य की लगभग 110 ट्रेजरी को बैकों से पैसे नहीं मिल रहे हैं, जो उन्हें नकदी की आपूर्ति करते हैं।

पेंशनभोगी महिलाओं के एक समूह ने कोच्चि में कहा, "हम सुबह से ही इंतजार कर रहे हैं और कई घंटे बीत चुके हैं। ट्रेजरी अधिकारियों ने कहा है कि उन्हें पर्याप्त मात्रा में नकदी नहीं मिल रही।"

सबसे ज्यादा प्रभावित वे लोग हुए हैं, जो राज्य की राजधानी में भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) के विभिन्न एटीएम से पैसे निकालते हैं।

एक कामकाजी महिला ने कहा, "लोगों को परेशानी में डालने की भी इंतिहा होती है। बीते दो दिनों से मैं एसबीआई के विभिन्न एटीएम के चक्कर लगा रही हूं। अगर नकदी नहीं है, तो वे इसका बोर्ड क्यों नहीं लगा देते, जिसमें लिखा हो कि नकदी नहीं है।"

नोटबंदी के वक्त नवंबर-दिसंबर के महीने में राज्य की राजधानी में पैसे पहुंचाए गए थे। लेकिन इस बार, ऐसा लगता है कि बैंकिंग उद्योग वैकल्पिक उपाय करने में नाकाम हुआ है, जिससे लोग खुद को असहाय महसूस कर रहे हैं।