हड़ताल से कर्नाटक में बैंकिंग गतिविधियां प्रभावित

बेंगलुरू: बैंककर्मियों की हड़ताल के कारण बुधवार को राज्य में करीब 10 हजार बैंक शाखाओं का काम-काज प्रभावित हो गया है। युनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस (यूएफबीयू) के कर्नाटक के महासचिव ए. एन. कृष्णमूर्ति ने यहां आईएएनएस से कहा, "वेतन वृद्धि जैसी हमारी कई मांग पूरी नहीं की गई हैं और हमारे द्वारा आहूत हड़ताल में 27 सरकारी बैंकों और दर्जन भर पुरानी पीढ़ी के निजी बैंकों के सभी कर्मचारी हिस्सा ले रहे हैं।"

यूएफबीयू पांच कर्मचारी संघों और चार अधिकारी संघों का प्रतिनिधि संगठन है और सभी नौ संघों ने भी हड़ताल को समर्थन दी थी।

इंडियन बैंक्स एसोसिएशन (आईबीए) पर जनवरी 2013 से वेतन संशोधन वार्ता को अवरुद्ध करने का आरोप लगाते हुए कृष्णमूर्ति ने कहा कि बैंक प्रबंधन के रवैये में बदलाव नहीं आ रहा है, जिसके कारण स्वीकार्य योग्य वेतन वृद्धि पर भी वार्ता नहीं हो पा रही है।

उन्होंने कहा, "महंगाई के कारण 11 फीसदी वृद्धि से हमें लाभ नहीं है और काम के दबाव तथा कर्मचारियों की कमी के कारण हमें दिक्कत हो रही है।"

हड़ताली कर्मचारियों के एक समूह ने सिटी सेंटर में स्टेट बैंक ऑफ मैसूर के निकट धरदा प्रदर्शन किया।

कृष्णमूर्ति ने कहा, "कर्मचारियों की कमी के बाद भी हमने 'जन धन' जैसी कई कल्याणकारी योजनाओं में प्रबंधन को सहयोग किया।"

उन्होंने कहा, "संघ महंगाई के कारण 30 फीसदी वेतन वृद्धि चाहता है, लेकिन आईबीए ने 11 फीसदी वृद्धि की पेशकश की है। हम 20 फीसदी पर सहमत हैं।"

हड़ताल के दौरान भी राज्य में हालांकि एटीएम मशीन काम करते रहे।

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

POPULAR ON IBN7.IN