सामाजिक परियोजनाओं में योगदान दें प्रवासी : गोयल

बेंगलुरू: भारत ने शनिवार को दुनिया भर में रह रहे अपने युवा प्रवासियों से सामाजिक परियोजनाओं को अपनी मातृभूमि के योगदान के तहत लेने का आग्रह किया। केंद्रीय खेल और युवा मामलों के मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) विजय गोयल ने यहां कहा, "सरकार युवा भारतीय प्रवासियों को राज्यों, शहरों या कस्बों सहित देश में किसी भी जगह पर सामाजिक परियोजनाओं को अंजाम देने के लिए प्रोत्साहित करेगी।"

14वें प्रवासी भारतीय दिवस पर 'भारत के परिवर्तन में प्रवासियों की भूमिका' पर अपने महत्वपूर्ण संबोधन में गोयल ने कहा कि उनका मंत्रालय देश के किसी भी राज्य या शहर में प्रवासी भारतीयों द्वारा क्रियान्वित सामाजिक परियोजनाओं को मंजूरी देने के लिए जल्द से जल्द एकल खिड़की खोलेगा।

बेंगलुरू में युवा प्रवासी दिवस समारोह के उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि कई अभूतपूर्व शुरुआत की गई है और यह भारत का बेहद शानदार दौर है। उन्होंने कहा कि देश को वैश्विक उत्पादन का केंद्र के रूप में विकसित करने के लिए 'मेक इन इंडिया कैंपेन' की शुरुआत की गई है।

डिजिटल इंडिया की शुरुआत का लक्ष्य डिजिटल सशक्तीकरण के साथ ही देश को ज्ञान आधारित उद्योग में बदलना है। 'स्किल इंडिया' की शुरुआत का मकसद देश के युवाओं को भारत के साथ ही विदेश में मिल रहे मौकों के लिए भी तैयार करना है। देश की आधारभूत संरचना को विकसित करने के लिए स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट समेत कई योजनाएं शुरू की गई हैं। देश को स्वच्छ और और हरा-भरा रखने के लिए 'स्वच्छ भारत मिशन' और 'गंगा सफाई मिशन' की शुरुआत की गई है।

केंद्रीय मंत्री ने कहा, "सरकार भारत में युवाओं की ऊर्जा का सही इस्तेमाल कर देश के आर्थिक दर को विकसित करने और रोजगार बढ़ाने के लिए करेगी ताकि देश तेज रफ्तार से प्रगति करे। 'स्टार्टअप इंडिया' कैंपेन की शुरुआत हो चुकी है और इसे प्रोत्साहित करने के लिए भारत में टैक्स और नॉन टैक्स प्रोत्साहन योजना शुरू की गई है।"

गोयल ने कहा कि दुनिया में फैले भारतीय मूल के युवा आधुनिक और संपन्न भारत बनाने की इस महत्वाकांक्षी योजना में बड़ी भूमिका निभा सकते हैं। सरकार विदेश में रह रहे भारतीयों तक इस योजना को पहुंचाने के लिए नियमों को आसान करने समेत कई कदम उठा रही है।

मंत्री ने कहा कि भारत दुनिया के सबसे युवा देशों में से एक है। यहां की कुल जनसंख्या में 35 साल से नीचे की आबादी का हिस्सा 65 प्रतिशत है। अनुमान के मुताबिक, 2020 तक देश की 50 प्रतिशत आबादी की उम्र 28 साल या इससे कम होगी। जबकि अमेरिका में यह उम्र 38 साल, चीन में 42 साल और जापान में 48 साल है।

गोयल ने कहा, "युवाओं को समाज सेवा और दूसरे देश के विकास के कार्यो से जोड़कर मंत्रालय उनके व्यक्तित्व और नेतृत्व कौशल में निखार लाने का प्रयास कर रहा है। इसे दो स्वयंसेवी संस्थाओं 'राष्ट्रीय सेवा योजना' और 'नेहरु युवा केंद्र संगठन' के जरिए किया जा रहा है। फिलहाल नेहरु युवा केंद्र संगठन के ग्रामीण इलाकों में 3.06 लाख युवा क्लब से 86 लाख युवा स्वयंसेवक जुड़े हुए हैं। जबकि 36 लाख से ज्यादा सीनियर सेकेंडरी स्कूल और कॉलेज के युवा राष्ट्रीय सेवा योजना से जुड़े हैं।"

गोयल ने कहा कि विदेश में रह रहे भारतीय जो समाज सेवा करना चाहते हैं, वह नेहरू युवा केंद्र संगठन, राष्ट्रीय सेवा योजना और राजीव गांधी राष्ट्रीय युवा संस्थान के साथ मिलकर मजबूत भारत बनाने की दिशा में कार्य कर सकते हैं।

  • Agency: IANS