बेंगलुरू में प्रवासी भारतीय सम्मेलन शुरू

 

बेंगलुरू: कर्नाटक की राजधानी में 14वां प्रवासी भारतीय दिवस यानी प्रवासी भारतीयों का सम्मेलन शनिवार को शुरू हो गया। दुनिया भर के देशों में रहने वाले प्रवासी भारतीय इस समारोह में शिरकत कर रहे हैं। कर्नाटक के उद्योग मंत्री आर.वी.देशपांडे ने इस तीन दिवसीय कार्यक्रम के उद्घाटन सत्र में कहा, "देश की 65 फीसदी आबादी 35 साल के नीचे होने के साथ ही यह युवा प्रवासियों के लिए मित्रता को प्रगाढ़ करने, देश की पुरानी परंपरा व समृद्ध संस्कृति की खोज करने तथा अपने लोकाचार की पहचान करने का एक महत्वपूर्ण अवसर है।"

दुनिया भर में युवा भारतीय प्रवासियों के योगदान की प्रशंसा करते हुए केंद्रीय युवा मामले एवं खेल मंत्री विजय गोयल ने कहा कि अमेरिका की व्यापार पत्रिका फोर्ब्स की सुपर अचीवर्स की सूची में भारतीय मूल के 30 युवा शामिल हैं, जिनकी उम्र 30 साल से कम है। सूची में शामिल 30 युवा गेम चेंजर्स हेल्थकेयर, मैन्युफैक्चरिंग, स्पोर्ट्स और फाइनैंस सहित 20 उद्योग से जुड़े हैं।

गोयल ने कहा, "यह गर्व और सम्मान की बात है कि गूगल, माइक्रोसॉफ्ट व पेप्सीको के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) क्रमश: सुंदर पिचई, सत्या नाडेला तथा इंद्रा नूई हैं, जो भारतीय हैं। नवनिर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने दक्षिणी कैरोलिना की गवर्नर भारतवंशी निक्की हेले को संयुक्त राष्ट्र का राजदूत मनोनीत किया है।"

'भारत के परिवर्तन में प्रवासियों की भूमिका' विषय पर उद्घाटन सत्र में लगभग 400 युवा प्रवासी भारतीयों ने हिस्सा लिया।

अगले तीन दिनों के दौरान स्टार्ट अप, विघटनकारी नवाचार तथा कर्नाटक में निवेश के अवसरों सहित विभिन्न विषयों पर लगभग 10 पूर्ण अधिवेशन होंगे।

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी सोमवार को प्रवासी भारतीय पुरस्कारों का वितरण करेंगे और समापन भाषण देंगे।

पूर्ण अधिवेशन के दौैरान विदेश राज्य मंत्री एम.जे.अकबर, केंद्रीय मानव संसाधान विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर, केंद्रीय रसायन एवं उर्वरक मंत्री एच.एन.अनंत कुमार तथा नीति आयोग के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अमिताभ कंठ भाषण देंगे।

इस कार्यक्रम में सात राज्यों के मुख्यमंत्री भी शिरकत करेंगे।