बेंगलुरु प्रवासी भारतीयों के स्वागत के लिए तैयार

 

 

बेंगलुरु:  देश का प्रौद्योगिकी शहर शनिवार से शुरू हो रहे 14वें प्रवासी भारतीय दिवस (पीबीडी) के लिए पूरी तरह से तैयार हो गया है। इसमें कर्नाटक और देश की संस्कृति की पूरी झलक दिखलाई देगी। राज्य के उद्योग मंत्री आर.वी. देशपांडे ने आईएएनएस से कहा, "राज्य तीन दिवसीय समारोह की पहली बार मेजबानी कर रहा है। हम इससे पहले दूसरे शहरों में हुए इसके आयोजनों की तुलना में इसे भव्य बनाने में लगे हुए हैं।"

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को इस विशाल आयोजन का उद्घाटन करेंगे और संबोधित करेंगे। इस मौके पर पुर्तगाल के प्रधानमंत्री एंटोनियो कोस्टा मुख्य अतिथि होंगे।

इसे विदेश मंत्रालय शीर्ष उद्योग निकायों सीआईआई और फिक्की के साथ प्रायोजित कर रहा है। इसमें कर्नाटक सरकार मेजबान राज्य के तौर पर शामिल है। शहर के बाहरी इलाके में बंगलौर अंतर्राष्ट्रीय प्रदर्शनी केंद्र में प्रवासी भारतीय दिवस का आयोजन किया जा रहा है।

देशपांडे ने कहा, "इस बड़े समारोह में दुनिया भर के 70 देशों के 6350 प्रतिनिधि शामिल होने के लिए पंजीकृत हैं, जिनमें 1500 एनआरआई और पीआईओ (भारतीय मूल के व्यक्ति) भी शामिल हैं।"

आयोजन की थीम 'प्रवासी भारतीय संबंधों के नए आयाम' है जिससे प्रवासी युवकों को उनकी जड़ों से जोड़ा जा सके और भारतीय संस्कृति के प्रति जागरूकता पैदा की जा सके।

इसका आयोजन साल 2015 से हर दूसरे साल जनवरी के दूसरे सप्ताह में किया जाता है। यह द्विवार्षिक आयोजन महात्मा गांधी की अफ्रीका से भारत वापस आने की स्मृति और प्रवासी भारतीयों खास तौर से एनआरआई और पीआईओ से जुड़े मुद्दों के समाधान के लिए एक मंच मुहैया कराता है।

POPULAR ON IBN7.IN