खुशी और विरोध बीच हेमंत सोरेन शनिवार को लेंगे शपथ

रांची: झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) के नेता हेमंत सोरेन शनिवार को झारखंड के नौवें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेने जा रहे हैं। उनके शपथ-ग्रहण को लेकर कहीं खुशी है तो कहीं विरोध के स्वर मुखर हो रहे हैं। विभिन्न राजनीतिक दलों ने इस मौके को अपने-अपने तरीके से मनाने की बात कही है। जहां झामुमो ने शपथ-ग्रहण को 'अधिकार दिवस' के रूप में मनाने की बात कही है, वहीं विपक्षी दलों ने इसे 'धिक्कार दिवस' और 'काला दिवस' के रूप में मनाने की घोषणा की है।

झामुमो के महासचिव सुप्रियो भट्टाचार्य ने शुक्रवार को संवाददाताओं से कहा, "राज्य में शनिवार को जनतांत्रिक सरकार बनेगी। झामुमो सरकार का नेतृत्व करेगी और हेमंत सोरेन राज्य के लोगों के सपने साकार करेंगे।"

झामुमो नेता ने कहा कि उनकी पार्टी राज्य में नई सरकार के गठन को सभी ब्लॉकों में 'अधिकार दिवस' के रूप में मनाएगी।

वहीं, विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष रवींद्र राय ने कहा, "हमने शनिवार को धिक्कार दिवस मनाने का निर्णय लिया है। सरकार का गठन गलत तरीके से होने जा रहा है। यह कदम राज्य के लोगों को धोखा देने जैसा है।"

एक अन्य विपक्षी पार्टी झारखंड विकास मोर्चा-प्रजातांत्रिक (जेवीएम-पी) ने इसे 'काला दिवस' के रूप में मनाने की बात कही। पार्टी के नेता प्रदीप यादव ने संवाददाताओं से कहा, "हम शपथ-ग्रहण को काला दिवस के रूप में मनाएंगे। हमारी पार्टी राज्य के सभी 24 जिलों में प्रदर्शन करेगी।"

उल्लेखनीय है कि झारखंड के राज्यपाल सैयद अहमद शनिवार सुबह 10 बजे झामुमो अध्यक्ष शिबू सोरेन के बेटे हेमंत सोरेन को मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाएंगे।

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

POPULAR ON IBN7.IN