मंत्रिमंडल ने झारखंड में राष्ट्रपति शासन हटाने की अनुशंसा की

नई दिल्ली: केंद्रीय मंत्रिमंडल ने गुरुवार को राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से झारखंड में राष्ट्रपति शासन समाप्त करने की अनुशंसा की। केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री मनीष तिवारी ने संवाददाताओं को बताया, "मंत्रिमंडल ने राष्ट्रपति से झारखंड में केंद्र का शासन समाप्त करने की अपील की है।"

राष्ट्रपति ने केंद्रीय मंत्रिमंडल की अपील स्वीकार कर ली है, जिसके बाद झारखंड में राष्ट्रपति शासन 18 जुलाई को समाप्त हो रहा है।

इससे पहले झारखंड के राज्यपाल सैय्यद अहमद ने बुधवार को राज्य में राष्ट्रपति शासन समाप्त करने की अनुशंसा की थी।

केंद्रीय मंत्रिमंडल का यह निर्णय झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) द्वारा कांग्रेस, राष्ट्रीय जनता दल (राजद) तथा निर्दलीय विधायकों के समर्थन से राज्य में नई सरकार बनाने का दावा किए जाने के बाद आया।

नए गठबंधन ने राज्य की 82 सदस्यीय विधानसभा में 43 विधायकों का समर्थन हासिल होने की बात कही है।

झारखंड में झामुमो द्वारा आठ जनवरी को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेतृत्व वाली गठबंधन सरकार से समर्थन वापस लेने के बाद 18 जनवरी को राष्ट्रपति शासन लगाया गया था।

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

 

POPULAR ON IBN7.IN