कॉलेज में उतरवाए गए लड़की के कपड़े, व्हाट्सएप पर फोटो शेयर करने लगा सिपाही

झारखंड के दुमका में एक पुलिस जवान और उसके दोस्त को व्हाट्सऐप पर एक कॉलेज छात्रा की तस्वीर शेयर करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। द टेलीग्राफ की रिपोर्ट के अनुसार लड़की के दोस्तों ने मोबाइल चोरी के आरोप में उसके कपड़े फाड़ दिए और तस्वीरें खींच ली थीं। मलिन मरांडी नामक पुलिस सिपाही गोड्डा जिले के एसपी के आधिकारिक आवास पर रसोइया के तौर पर तैनात था। रिपोर्ट  के अनुसार पुलिस सिपाही को तस्वीरें अपनी गर्लफ्रेंड से मिली थीं जो पीड़िता के साथ दुमका के एसपी महिला कॉलेज में पढ़ती है। एक अगस्त को लड़के के कपड़े फाड़ने की घटना की वो चश्मदीद थी। मरांडी ने कथित तौर पर लड़की की तस्वीरें अपने दोस्त सुनिलाल टुडु को भेजीं जिस पर उन तस्वीरों को व्हाट्सऐप ग्रुप में शेयर करने का संदेह है। ये तस्वीरें व्हाट्सऐप पर शेयर किए जाने के बाद वायरल हो गईं। मरांडी और टुडु दोनों को जेल भेज दिया गया है।

दुमका के विधायक और राज्य के जनकल्याण मंत्री लुईस मरांडी ने लड़की की तस्वीरें शेयर किए जाने पर अफसोस जताते हुए कहा कि ये “दुर्घटनावश” हो गया। रिपोर्ट के अनुसार नौ सदस्यों वाली टीम समेत लुईस मरांडी पीड़िता के घर गई थीं। उन्होंने दस्तावेज के तौर पर पीड़िता की तस्वीरें लीं थीं। टीम के एक सदस्य ने अपना मोबाइल अपने नाबालिग बेटे को दे दिया था। कथित तौर पर उस नाबालिग बेटे ने पीड़िता की तस्वीर व्हाट्सऐप ग्रुप में शेयर कर दी। लुईस मरांडी ने अफसोस जताते हुए कहा कि कानूनन पीड़िता की पहचान गुप्त रखनी चाहिए लेकिन जो हुआ वो “दुर्भाग्यपूर्ण और अनचाहा था।”

मोबाइल चोरी के इल्जाम के बाद लड़की के कपड़े फाड़े जाने की घटना के सामने आने के बाद एसकेएम यूनिवर्सिटी के वाइस-चांसलर मनोरंजन प्रसाद ने एसपी महिला कॉलेज की प्रिंसिपल रेणुका नाथ का ट्रांसफर कर दिया है। पुलिस पहले ही चार लड़कियों को इस मामले में गिरफ्तार कर चुकी है जिन पर पीड़िता के कपड़े फाड़ने का आरोप है।