पर्रिकर सियाचिन में सैनिकों से मिले

श्रीनगर: रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने शुक्रवार को जम्मू एवं कश्मीर के लद्दाख क्षेत्र के नुबरा इलाके में स्थित सेना के सियाचिन सैन्य शिविर का दौरा किया। इस दौरान उन्होंने वहां पर तैनात सैनिकों से बातचीत की और उन्हें संबोधित किया। पर्रिकर शुक्रवार सुबह भारतीय सेना के नुबरा हवाईअड्डे पर उतरे। इस दौरान उनके साथ सेना प्रमुख जनरल दलवीर सिंह और रक्षा मंत्रालय तथा सेना के अन्य वरिष्ठ अधिकारी थे।

राज्य की ग्रीष्मकालीन राजधानी श्रीनगर में सूत्रों ने आईएएनएस से कहा, "सैन्य शिविर में उन्होंने सैनिकों से अनौपचारिक बातचीत की। उन्होंने विश्व के सबसे ऊंचे युद्ध के मैदान में देश की सीमा की रखवाली कर रहे लोगों के कल्याण में रुचि दिखाई।"

सूत्रों ने बताया कि पर्रिकर को सियाचिन ग्लेशियर पर स्थितियों के बारे में जनरल दलवीर सिंह की उपस्थिति में फील्ड कमांडरों द्वारा संक्षिप्त जानकारी दी गई। लेफ्टिनेंट जनरल डी.एस. हुड्डा, उधमपुर स्थित उत्तरी कमान के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल बी.एस. नेगी, लेह स्थित 16वीं वाहिनी के मुख्यालय के जनरल अफसर कमांडिंग ने इस सत्र का नेतृत्व किया।

रक्षा मंत्री इसके बाद लद्दाख क्षेत्र के लेह कस्बे में पहुंचे। यहां पर उन्हें 16वीं वाहिनी के मुख्यालय में फील्ड कमांडरों ने एक बार फिर जानकारी दी।

सरकार द्वारा जारी एक बयान के मुताबिक, "रक्षामंत्री श्रीनगर में राज्य के राज्यपाल एन.एन. बोहरा से मुलाकात करेंगे। वह शुक्रवार को ही राज्य के मुख्यमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद से भी मिलेंगे।"

बयान के मुताबिक, "राज्यपाल शाम के समय रक्षा मंत्री को रात्रिभोज देंगे।"

घाटी में रात बिताने के बाद पर्रिकर शनिवार को जम्मू क्षेत्र का दौरा करेंगे।

रक्षा सूत्रों ने कहा कि वह शनिवार को पुंछ जिले के भीमबेर गली सेक्टर में नियंत्रण रेखा (एलओसी) का दौरा करेंगे।

एक रक्षा प्रवक्ता ने बताया, "रक्षामंत्री 14वीं वाहिनी के नागरोटा मुख्यालय का भी दौरा करेंगे, जहां पर जनरल ऑफिसर कमांडिग लेफ्टिनेंट जनरल के.एच. सिंह उन्हें नियंत्रण रेखा पर स्थिति और जम्मू क्षेत्र में चलाए जा रहे आतंकवाद रोधी अभियानों की स्थिति से अवगत कराएंगे।"

राज्य की अपनी दो दिवसीय यात्रा समाप्त होने से पहले पर्रिकर जम्मू क्षेत्र के रियासी जिले में माता वैष्णो देवी मंदिर में पूजा-अर्चना करेंगे।

POPULAR ON IBN7.IN