कश्मीर घाटी में बर्फबारी से जनजीवन थमा

 

 

श्रीनगर:  कश्मीर घाटी में मध्यम से भारी बर्फबारी के कारण शनिवार को जनजीवन थम गया है।

श्रीनगर अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे की ओर आने वाली सभी उड़ानों को शुक्रवार को रद्द कर दिया गया। इसके अलावा घाटी का देश के शेष हिस्सों से सड़क और हवाई संपर्क टूट गया है।

घाटी में बिजली के खंभों के उखड़ने और बिजली आपूर्ति ग्रिड में व्यवधान के कारण बिजली आपूर्ति भी बंद रही।

यहां तक कि उच्च सुरक्षा वाली गुपाकर रोड पर भी बिजली नहीं है, जहां मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती और उनके कैबिनेट के कुछ सदस्यों के आवास हैं।

महबूबा ने शुक्रवार को श्रीनगर के कुछ हिस्सों का दौरा किया और बर्फबारी से निपटने के लिए पर्याप्त प्रशासनिक तैयारियां न होने को लेकर नाराजगी व्यक्त की।

कश्मीर घाटी के पुलिस प्रमुख जावेद मुज्तबा गिलानी ने पुलिस कर्मियों को सर्द मौसम के कारण नागरिकों को होने वाली समस्याओं से निपटने में मदद का निर्देश दिया है।

बर्फ को हटाने में प्रशासन की नाकामी के कारण घाटी के सभी 10 जिलों में कई वाहन फंसे रह गए।

हालांकि गुलमर्ग, सोनमर्ग, पीर पंजाल पर्वत श्रृंखला और अन्य ऊंचे इलाकों में भारी बर्फबारी के कारण पांच महीने के शुष्क मौसम से जूझ रहे स्थानीय नागरिकों के चेहरे खुशी से खिल गए।

पिछले 12 घंटे में सोनमर्ग, गुलमर्ग और पहलगाम में चार फीट बर्फबारी हुई, वहीं श्रीनगर में एक फीट बर्फबारी हुई।

मौसम विभाग ने अगले 12 घंटों में मौसम में सुधार की संभावना जताई है।

  • Agency: IANS
Poker sites http://gbetting.co.uk/poker with all bonuses.