कश्मीर में सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच एनकाउंटर

कश्मीर में शुक्रवार रात शोपियां जिले में सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ शुरू हो गई। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि सुरक्षा बलों ने आतंकियों की मौजूदगी की खुफिया सूचना मिलने के बाद जिले के चिल्लिपुरा गांव में तलाशी एवं घेराबंदी अभियान चलाया था, इसी दौरान मुठभेड़ शुरू हो गई। सुरक्षा बलों के नजदीक पहुंचते ही आतंकियों ने उन पर गोलियां चलानी शुरू कर दी। उन्होंने कहा, ‘‘मुठभेड़ जारी है, विस्तृत जानकारी प्राप्त नहीं हुई है। वहीं दूसरी ओर दिन में पुलवामा जिले में एक सीआरपीएफ पोस्‍ट पर संदिग्‍ध आतंकियों ने ग्रेनेड फेंके हैं। हादसे में एक जवान समेत तीन लोगों की मौत की सूचना है। बताया जा रहा है कि यह सीआरपीएफ पोस्‍ट जिले के व्‍यस्‍त बाजार वाले इलाके में हैं। उधर, छत्‍तीसगढ़ के बीजापुर में नक्‍सलियों के साथ एक एनकाउंटर में दो और जवानों के घायल होने की सूचना है।

 

शुक्रवार को ही जम्मू कश्मीर में जैश-ए-मोहम्मद के दो संदिग्ध आतंकियों को पकड़ा गया है। दोनों को बारामूला जिले की पुलिस ने पकड़ा। दोनों के पास से दो पिस्टल भी बरामद हुई हैं। दोनों जैश-ए-मोहम्मद के ओवर ग्राउंड वर्कर के रूप में कार्य कर रहे थे। विस्‍तृत रिपोर्ट की प्रतीक्षा है। पिछले महीने पुलवामा क काकापोरा क्षेत्र में ग्रेनेड से एक और हमला किया गया था। उससे पहले, दक्षिणी कश्‍मीर के शोपियां जिले में हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकियों ने सेना के काफ‍िले पर हमला किया था, जिसमें तीन जवानों की मौत और पांच अन्‍य घायल हो गए थे। क्रॉस-फायरिंग में एक नागरिक भी मारा गया था।

इससे पहले जम्मू कश्मीर में जैश ए मोहम्मद के दो संदिग्ध आतंकियों को पकड़ा गया है। दोनों को बारामुला जिले की पुलिस ने पकड़ा। दोनों के पास से दो पिस्टल भी बरामद हुई हैं। दोनों जैश-ए-मोहम्मद के ओवर ग्राउंड वर्कर के रूप में कार्य कर रहे थे।

गौरतलब है कि हाल ही राज्य में 8 माह बाद स्कूल और कॉलेज खुले हैं। जो कि 8 जुलाई 2016 को हिजबुल कमांडर बुरहान वानी के मारे जाने के बाद भड़की हिंसा में सभी स्कूल-कालेज-विश्वविद्यालय बंद कर दिए गए थे। स्कूल और कॉलेज खुलने से राज्य में उत्साह और रोमांच हर तरफ बिखरा नजर आ रहा था। बच्चे स्कूल बसों से निकलकर पहले स्कूल में भागकर पहुंचने के लिए एक-दूसरे से होड़ करते दिखे। सभी को अपने दोस्तों से मिलने की बेकरारी थी जिनसे मिले आठ महीने गुजर चुके थे।

POPULAR ON IBN7.IN