मोदी लहर के बीच कश्मीर में दूसरे चरण का मतदान

जम्मू/श्रीनगर: जम्मू एवं कश्मीर घाटी में विधानसभा चुनावों के पहले चरण के तहत 70 फीसदी से ज्यादा मतदान के बाद मंगलवार को दूसरे चरण का मतदान होगा।

इस चुनाव में खासकर जम्मू क्षेत्र में मतदाताओं के बीच मोदी लहर के बीच दिग्गजों सहित अन्य उम्मीदवारों के लिए करो या मरो की स्थिति होगी।

जम्मू क्षेत्र में नौ निर्वाचन क्षेत्र हैं, जिसमें उधमपुर, रीआसी तथा पुंछ जिले में तीन-तीन सीटें हैं, जबकि घाटी में नौ निर्वाचन क्षेत्र हैं, जिसमें दक्षिणी कश्मीर के कुलगाम जिले में चार तथा उत्तरी कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में पांच सीटें हैं।

कुल 10.53 लाख मतदाताओं में से रिआसी निर्वाचन क्षेत्र में सर्वाधिक 108,084 मतदाता, जबकि करनाह में सबसे कम 32,794 मतदाता हैं।

रिआसी जिले के गुलबर्गा, गुल अरनास तथा रिआसी एवं उधमपुर जिले के रामनगर, चेनानी तथा उधमपुर और पुंछ जिले के पुंछ हवेली, मेंढर तथा सुरानकोट सीटों पर मंगलवार को मतदान होंगे।

कश्मीर घाटी में कुलगाम जिले के देवसर, नूराबाद, होम शालीबाग तथा कुलगाम एवं कुपवाड़ा जिले के कुपवाड़ा, लंगाते, हंदवाड़ा, लोलाब तथा करनाह में कल मतदान होंगे।

दूसरे चरण के चुनाव में कुल 175 उम्मीदवार अपनी राजनीतिक किस्मत आजमा रहे हैं।

प्रमुख नेताओं में हंदवाड़ा से नेशनल कांफ्रेंस (नेकां) नेता तथा मंत्री चौधरी मोहम्मद रमजान का मुकाबला पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) के गुलाम मोहिद्दीन सूफी तथा पीपुल्स कांफ्रेंस के सज्जाद लोन के साथ है।

कानून मंत्री तथा नेकां नेता मीर सैफुल्लाह कुपवाड़ा से दूसरी बार मैदान में हैं, जबकि सामाजिक कल्याण मंत्री तथा नेकां नेता सकीन इत्तू दक्षिण कश्मीर के नूराबाद से किस्मत आजमा रही हैं।

नेकां नेता तथा कनिष्ठ वित्त मंत्री अय्याज अहमद खान गुल अरनास से दूसरी बार मैदान में हैं।

इसके अलावा मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के यूसुफ तरिगामी (कुलगाम), पैंथर्स पार्टी के हर्षदेव सिंह (रामनगर), सरताज मदनी (देवसर), अब्दुल गफ्फार सोफी (होम शैलबाग) तथा गुलाबगढ़ से अब्दुल गनी मलिक मैदान में हैं।

जम्मू एवं कश्मीर की राजनीति में एक शक्तिशाली विकल्प के रूप में उभरी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने वर्तमान विधानसभा चुनाव में जम्मू क्षेत्र की नौ सीटों पर अन्य दलों के सामने चुनौतियां खड़ी कर दी हैं।

उधमपुर तथा पुंछ जिले में मोदी ने पिछले सप्ताह जनसभाओं को अंजाम दिया है।

चुनाव आयोग ने दूसरे चरण के मतदान के लिए 2,181 मतदान केंद बनाए हैं। इस दौरान 30 हजार से अधिक सुरक्षाकर्मी चुनाव को निष्पक्ष तथा शांतिपूर्ण बनाने में सहायता करेंगे।

मतदान सुबह आठ बजे से शुरू होकर शाम चार बजे तक चलेगा। मतगणना 23 दिसंबर को होगी।

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

POPULAR ON IBN7.IN