वीरभद्र सिंह हमारे मुख्यमंत्री उम्मीदवार : राहुल

हिमाचल प्रदेश में मुख्यमंत्री उम्मीदवार को लेकर लगाई जा रही अटकलों पर विराम लगाते हुए कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने शानिवार को कहा कि वीरभद्र सिंह "सातवी बार प्रदेश के मुख्यमंत्री बनेंगे"। आय से अधिक संपत्ति के मामलों का सामना कर रहे और जमानत पर बाहर वीरभद्र सिंह को लेकर पार्टी के रुख को साफ करते हुए राहुल ने कहा, "वीरभद्र सिंह जी ने छह बार बतौर मुख्यमंत्री सूबे में अतुलनीय विकास किया है। वह सातवीं बार भी मुख्यमंत्री बनेंगे। उन्हें पार्टी की तरफ से पूरा समर्थन है।"

राहुल ने यहां आयोजित एक सार्वजनिक सभा में चुनाव अभियान की औपचारिक शुरुआत करते हुए 15 मिनट तक हिंदी में भाषण दिया, और कांग्रेस शासित पहाड़ी राज्य और भाजपा शासित गुजरात के विकास की तुलना की। दोनों ही राज्यों में नवंबर माह में विधानसभा चुनाव होने हैं।

राहुल ने कहा, "हिमाचल के लोगों को वीरभद्र सिंह की सरकार के पांच साल के कार्यकाल की तुलना गुजरात में भाजपा सरकार के साथ करनी चाहिए।"

उन्होंने कहा, "हिमाचल प्रदेश में एक भी सरकारी स्कूल बंद नहीं किया गया है, जबकि गुजरात सरकार ने 13,000 सरकारी स्कूलों को बंद कर दिया है।"

राहुल ने कहा, "हिमाचल प्रदेश ने पिछले पांच सालों में चार मेडिकल कॉलेज खोल दिए हैं, जबकि गुजरात ने एक भी नहीं खोले हैं।"

उन्होंने कहा कि उल्लेखनीय है कि कांग्रेस-शासित हिमाचल प्रदेश सरकार ने करीब 70,000 युवाओं को सरकारी रोजगार प्रदान किया है और 1,000 रुपये प्रति माह बेरोजगारी भत्ता प्रदान कर रही है, जबकि पिछले पांच वर्षों में गुजरात सरकार 10,000 से कम सरकारी नौकरी प्रदान पाई है और यहां तक कि सरकार युवाओं को बेरोजगारी भत्ता भी नहीं दे रही है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर चुटकी लेते हुए राहुल ने कहा कि केंद्र सरकार ने हड़बड़ी में वस्तु एवं सेवा कर लागू किया है, जिसके कारण लोग बेरोजगार हो गए हैं। उन्होंने कहा कि इस कर प्रणाली को कांग्रेस नेतृत्व वाली संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन सरकार ने शुरू किया था।

उन्होंने कहा, "अकेले गुजरात में, जीएसटी के कारण 30 लाख युवाओं और महिलाओं ने अपनी नौकरियां खो दी है।"

राहुल ने कहा, "चीन के साथ हम एक प्रतियोगिता कर रहे हैं, चीन हर दिन 50,000 युवाओं को रोजगार प्रदान करता है, जबकि मोदी सरकार 450 युवाओं को रोजगार देती है।"

उन्होंने कहा कि पूरे देश में एक कर के बजाय, केंद्र सरकार ने पांच अलग-अलग प्रकार के कर लागू कर दिए हैं, और प्रारंभ से ही 28 प्रतिशत कर लागू करने से अर्थव्यवस्था पूरी तरह पटरी से उतर गई है। "यह भारतीय अर्थव्यवस्था को सबसे बड़ा झटका है।"

उन्होंने कहा, "भाजपा शासित राज्यों में हर दिन हजारों किसान आत्महत्या कर रहे हैं। न तो वे (भाजपा सरकारें) बोनस देते हैं, न ही उनकी मदद करते हैं। वे सिर्फ भाषण देते हैं।"

कांग्रेस नेता ने जीडीपी में गिरावट के लिए केंद्र सरकार को जिम्मेदार ठहराया।

उन्होंने कहा, "जीडीपी में दो फीसदी गिरावट से यह साफ होता है कि आर्थिक सुधारों में कितना बड़ा कुप्रबंधन है।"

मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने राज्य के विकास का श्रेय गांधी परिवार को दिया, जवाहरलाल नेहरू से लेकर राजीव गांधी तक को।

बिलासपुर शहर में तीन अक्टूबर को प्रधानमंत्री द्वारा 1,350 करोड़ रुपये के 750 बिस्तरों वाले एम्स अस्पताल की नींव रखने पर उन्होंने कहा कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जमीन मांगे जाने पर उनकी सरकार ने एम्स के लिए जमीन उपलब्ध कराई है।

राहुल ने कहा, "मैं स्पष्ट करना चाहता हूं कि यह केंद्र सरकार की जिम्मेदारी है कि वह विकास के लिए राज्य को उसकी हिस्सेदारी उपलब्ध कराए और एम्स के लिए दिया गया धन किसी की जेब से नहीं आया है। यह धनराशि राज्यों के हिस्से से भारत सरकार से आया है।"

POPULAR ON IBN7.IN