रूठे-रूठे वीरभद्र मनाएं कैसे, प्रदेश अध्यक्ष को लेकर नाराज 'राजा' ने दिल्ली में डाला डेरा

हिमाचल प्रदेश जैसे-जैसे चुनाव नजदीक आ रहे हैं, प्रदेश कांग्रेस में चल रही अंदरूनी गुटबाजी अब खुलकर सामने आने लगी है. प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुखविन्दर सिंह सुक्खू से नाराज चल  रहे मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने  दिल्ली में डेरा डाल लिया है. मुख्यमंत्री ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को पत्र लिखकर साफ कर दिया था कि पार्टी में हालात ऐसे ही बने रहे तो वह इस बार चुनाव नहीं लड़ेंगे. लेकिन इस चेतावनी से जब पार्टी आलाकमान पर कोई असर नहीं हुआ तो उन्होंने अपना रुख दिल्ली की ओर कर दिया. प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुखविन्दर सिंह पहले से ही दिल्ली में जमे हुए हैं. 

कांग्रेस ने हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह को मनाने की कोशिश की जो पार्टी की प्रदेश इकाई में मची खींचतान की वजह से नाराज बताए जा रहे हैं. वीरभद्र ने पार्टी की प्रदेश इकाई के मुद्दों के नहीं सुलझने पर चुनाव नहीं लड़ने की बात भी कही है. दिल्ली में डेरा डाले हुए वीरभद्र को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिलने का वक्त नहीं मिल पाया जिनको उन्हें अपनी शिकायतें बयां करनी थी.

सोनिया के राजनीतिक सचिव अहमद पटेल ने वीरभद्र से मुलाकात की और प्रदेश में कुछ महीने बाद होने वाले विधानसभा चुनाव पहले आसन्न संकट को देखते हुए उन्हें मनाने की कोशिश की. सूत्रों ने कहा कि वीरभद्र ने पटेल के आवास पर उनसे मुलाकत की जो करीब आंधे घंटे तक चली.

पिछले हफ्ते छह बार के मुख्यमंत्री ने हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस के कई नेताओं से कहा था कि सुखविंदर सिंह सुखू की अगुवाई वाली मौजूदा प्रदेश कांग्रेस कमेटी में बदलाव नहीं किया गया तो वह न चुनाव लड़ेंगे और न ही पार्टी का नेतृत्व करेंगे. 

उधर, पार्टी सूत्र बता रहे हैं कि भ्रष्टाचार के मामले में फसे मुख्यमंत्री से पार्टी आलाकमान नाराज चल रहा है. इसलिए मुख्यमंत्री की बात पर कोई गौर नहीं किया जा रहा है. वीरभद्र काफी समय से प्रदेशाध्यक्ष को हटाने की बात दिल्ली दरबार से कहते रहे हैं. 

POPULAR ON IBN7.IN