शिमला गैंगरेप मामले में आईजी समेत 8 पुलिसकर्मी गिरफ्तार

शिमला में गुड़िया गैंगरेप और मर्डर केस में सीबीआई ने बड़ी कार्रवाई करते हुए कुल 8 पुलिसवालों को गिरफ़्तार कर लिया है. पुलिसवालों में आईजी ज़हूर हैदर ज़ैदी, डीएसपी मनोज कुमार जोशी भी शामिल हैं. इन पुलिसकर्मियों को असली आरोपियों को बचाने के आरोप में गिरफ़्तार किया गया है. 4 जुलाई को शिमला से 56 किमी दूर कोटखाई में आरोपियों ने 16 साल की स्कूली छात्रा को लिफ्ट दी और नज़दीक के जंगल में ले जाकर उसके साथ रेप किया और फिर उसकी बेरहमी से हत्या कर दी थी. इस रेप और मर्डर के बाद शिमला में पुलिस प्रशासन के ख़िलाफ़ जमकर विरोध हुआ था. इस मामले में गिरफ़्तार किए गए मुख्य आरोपी ने अपने सहआरोपी की पुलिस कस्टडी में ही हत्या कर दी थी. 

उच्च न्यायालय ने सीबीआई को सौंपी थी जांच
मामले को बढ़ता देख हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय ने इसकी जांच सीबीआई को सौंप दी थी. अधिकारियों ने बताया कि सीबीआई ने 1994 बैच के आईपीएस अधिकारी एवं तत्कालीन आईजीपी (दक्षिण) जैदी, तत्कालीन पुलिस उपाधीक्षक मनोज जोशी और छह अन्य पुलिस अधिकारियों को गिरफ्तार करने से पहले कई लोगों से पूछताछ की थी. उन्होंने बताया कि गिरफ्तार किए गए लोगों को बुधवार को अदालत में पेश किया जाएगा.

सीबीआई ने दो अलग-अलग प्राथमिकी दर्ज की
जांच एजेंसी ने नाबालिग लड़की के साथ बलात्कार एवं हत्या और हिरासत में संदिग्ध की मौत के मामले में दो अलग-अलग प्राथमिकियां दर्ज की हैं. सीबीआई के एक प्रवक्ता ने कहा, सीबीआई ने पुलिस अधीक्षक, अपर पुलिस अधीक्षक और पुलिस उप-अधीक्षक के नेतृत्व में एक विशेष जांच दल का गठन कर दोनों मामलों की जांच शुरू की है.

POPULAR ON IBN7.IN