धर्मशाला फिल्मोत्सव में 'उमरिका' ने मोहा मन

धर्मशाला: धर्मशाला अंतर्राष्ट्रीय फिल्मोत्सव (डीआईएफएफ) के चौथे संस्करण में फिल्मकार प्रशांत नायर की फिल्म 'उमरिका' ने दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। यह फिल्म 1970 के दशक के अंत की पृष्ठभूमि लिए हुए है।

'उमरिका' ने सनडांस फिल्मोत्सव 2015 में 'वर्ल्ड सिनेमा ड्रामाटिक ऑडियंस' पुरस्कार जीता है और शुक्रवार को मैक्लोडगंज में आयोजित तिब्बतन इंस्टीट्यूट ऑफ परफार्मिग आर्ट्स में इसकी स्क्रीनिंग हुई। 

फिल्म को इसकी अनूठी शैली और अवधारणा के चलते दर्शकों से काफी सराहना मिली। 

फिल्म में अभिनेता प्रतीक बब्बर मुख्य भूमिका में हैं। उनका कहना है कि वह नायर के कारण इस फिल्म का हिस्सा बनने के लिए तैयार हुए थे और ऐसा करते समय अपनी भूमिका के बारे में ज्यादा नहीं सोचा।

प्रतीक को 'जाने तू या जाने ना', 'धोबी घाट' और 'इसक' जैसी फिल्मों में उनके दमदार किरदार के लिए जाना जाता है।

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस। 

 

POPULAR ON IBN7.IN