जाट आंदोलन से दिल्ली-चंडीगढ़ का विमान किराया 15-20 गुना बढ़ा

नई दिल्ली: सरकारी नौकरियों और शिक्षण संस्थानों में ओबीसी कोटे के तहत आरक्षण की मांग को लेकर जारी जाट आंदोलन ने पूरे हरियाणा को हिलाकर रख दिया है। इससे दिल्ली-चंडीगढ़ मार्ग बाधित है। इस स्थिति का लाभ उठाते हुए निजी विमानन कंपनियों ने अपने हवाई किराए में 15 से 20 गुना तक वृद्धि कर दी है। शनिवार तक ये एयरलाइंस दिल्ली से चंडीगढ़ की एक घंटे की उड़ान के लिए 25 हजार से 55 हजार रुपये तक वसूल रही थीं। जबकि, सामान्य दिनों में विमान किराया मात्र ढाई-तीन हजार रुपये है। 

एयर इंडिया, जेट एयरवेज, स्पाइस जेट और इंडिगो ये चार एयरलाइंस हैं, जो चंडीगढ़ के लिए विमान सेवा मुहैया कराती हैं। 

ट्रैवल एजेंसी 'फ्लाइट शॉप' के सहायक टीम लीडर अमित सिंह ने बताया कि अधिकतम किराए पर कोई रोक नहीं है। इसी वजह से ये एयरलाइंस इस संकट के समय में कई गुना किराया वसूल रही हैं। सामान्य दिनों में अधिक से अधिक यात्रियों को अपनी ओर आकर्षित करने के लिए ये कम किराया वसूलती हैं।  

दिल्ली-चंडीगढ़ मार्ग पर विमान टिकट की मांग में 70 फीसद वृद्धि हो गई है। बहुत सारे ऐसे लोग हैं, जिन्हें दिल्ली से अंतर्राष्ट्रीय उड़ान भरनी है और वे चाहते हैं कि किसी भी तरह से दिल्ली पहुंच जाएं। 

यह स्थिति ठीक वैसी ही है जैसी चेन्नई में बाढ़ के दौरान चेन्नई से अन्य शहरों के विमान भाड़े में 20 से 30 गुना वृद्धि के साथ हुई थी। 

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस। 

 

POPULAR ON IBN7.IN