आक्रोशित भीड़ ने जबरन खोला गुड़गांव टोल प्लाजा

गुड़गांव: दिल्ली-गुड़गांव एक्सप्रेस-वे पर सर्विस लाइनों की बदहाली से बौखलाए ग्रामीणों ने बुधवार को जबरन एक घंटे के लिए टोल प्लाजा खोलने को विवश कर दिया। यह जानकारी अधिकारियों ने दी।

नरसिंहपुर, हसनपुर, खांडसा और हंस एंक्लेव वासियों ने बुधवार सुबह 9:50 से 11:05 बजे तक एक्सप्रेस-वे स्थित, तीन टोल संग्रह नाकों में से एक खेड़की दौला टोल प्लाजा के 18 लाइनों को जबरन खुलवा लिया।

दिल्ली-गुड़गांव सुपर कनेक्टिीविटी लिमिटेड (डीजीएससीएल) 27.7 किलोमीटर एक्सप्रेस वे के लिए खेड़की दौला, सरहौल सीमा और दिल्ली में इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर स्थित तीन टोल प्लाजा का संचालन करती है।

बुधवार को स्थानीय लोगों ने टोल का भुगतान किए बिना मुफ्त सफर के लिए दरवाजों को खोल दिया।

ग्रामीणों ने पुलिस पर टोल मैनेजर और डीजीएससीएल के वरिष्ठ अधिकारियों को मौके पर बुलाने का दबाव भी बनाया।

घटना की जानकारी मिलने पर डीजीएससीएल के मुख्य कार्यकारी अधिकारी(सीईओ) मनोज अग्रवाल, उप डिवीजनल सतेंद्र दूहन और सहायक पुलिस आयुक्त बीर सिंह एवं विष्णु दयाल मौके पर पहुंचे। सीईओ द्वारा एक माह में सर्विस रोड के पुन:निर्माण का लिखित आश्वासन दिए जाने के बाद ही टोल फाटक बंद करने दिए गए।

प्रदर्शनकारियों ने बताया कि कुछ गांवों में एक साल से अधिक समय से सर्विस लाइन बदहाल हैं।

ग्रामीणों द्वारा टोल संचालक से मरम्मत की बाबत बार-बार प्रार्थना किए जाने का भी कोई असर नहीं हो रहा था।

ग्रामीणों ने इस मुद्दे को लेकर 15 फरवरी को भी प्रदर्शन किया था। उस समय भी ग्रामीणों ने आधे घंटे के लिए टोल गेट खोलने के लिए मजबूर कर दिया था।

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

 

POPULAR ON IBN7.IN