गुजरात में सौगातों की बरसात के बीच मोदी बोले- कड़े फैसले लेना जारी रखेंगे मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भावनगर के घोघा और भरूच के दाहेज के बीच 650 करोड़ रुपए की रोल-आॅन रोल आॅफ (रो-रो) फेरी सेवा के पहले चरण का रविवार को शुभारंभ किया। मोदी ने रैलियों में सौगातों की बरसात करते हुए गुजरात के लिए एक दिन में 3650 करोड़ रुपए की परियोजनाओं का शिलान्यास व उद्घाटन किया। मोदी ने कहा कि कठोर सुधारों के बाद अर्थव्यवस्था पटरी पर लौटी है और सही दिशा में आगे बढ़ रही है। हमने कड़े फैसले लिए हैं और ऐसा करना जारी रखेंगे।  प्रधानमंत्री की एक महीने में यह तीसरी गुजरात यात्रा है। यह ऐसे समय में हुई है जब चुनाव आयोग द्वारा गुजरात विधानसभा चुनाव की घोषणा नहीं होने के कारण उसे कांग्रेस सहित विपक्ष की आलोचना का सामना करना पड़ रहा है।

प्रधानमंत्री ने घोघा, दाहेज और वडोदरा तीनों स्थानों पर जनसभा को संबोधित किया। वडोदरा में प्रधानमंत्री ने कहा कि मैंने रविवार को 3650 करोड़ रुपए की परियोजनाओं का शिलान्यास और उद्घाटन किया। प्रधानमंत्री ने भावनगर के घोघा और भरूच के दाहेज के बीच 650 करोड़ रुपए की रोल-आॅन रोल आॅफ (रो-रो) फेरी सेवा के पहले चरण का बाकी पेज 8 पर शुभारंभ किया। इसके बाद वे 100 दिव्यांग बच्चों के साथ घोघा से दाहेज गए। भविष्य में रो रो फेरी सर्विस का विस्तार हजीरा, जाफराबाद, दमन दीव जैसी जगहों पर किया जाएगा। मोदी ने दाहेज में कहा कि सभी सुधारों और कठोर निर्णयों के बाद देश की अर्थव्यवस्था पटरी पर आई है और अब सही दिशा में बढ़ रही है। अगर हम हाल के आंकड़ों पर नजर डालें तो कोयला, बिजली, प्राकृतिक गैस और अन्य चीजों का उत्पादन काफी बढ़ा है। देश में विदेशी निवेश रिकार्ड स्तर पर है। देश का विदेशी मुद्रा भंडार 40 हजार करोड़ डालर हो गया है। हमने सुधार की दिशा में महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं और यह प्रक्रिया जारी रहेगी। सुधारों के जरिये रोजकोषीय स्थिरता कायम रखी जाएगी। हम देश के आर्थिक विकास के लिए निवेश आमंत्रित करने की दिशा में कदम उठा रहे हैं। मोदी ने अप्रत्यक्ष रूप से कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के सवालों का जवाब दिया। राहुल ने हाल के गुजरात दौरे के दौरान अर्थव्यवस्था को लेकर मोदी सरकार पर निशाना साधा था।

मोदी ने कहा कि पिछले दशकों में केंद्र सरकारों ने समुद्री क्षेत्र के विकास पर ध्यान नहीं दिया और जहाजरानी व बंदरगाह क्षेत्र भी उपेक्षित रहा। हमारी सरकार ने समुद्री क्षेत्र में सुधार व जल आधारभूत संरचना के विकास के लिए ‘सागरमाला’ परियोजना और 106 राष्ट्रीय जल मार्गों के निर्माण का कार्य शुरू किया है। सरकार ने नई पोत परिवहन नीति और नई विमानन नीति तैयार की है। छोटे-छोटे हवाई अड्डों को सुधारने की पहल शुरू की है। साथ ही अमदाबाद और मुंबई के बीच बुलेट ट्रेन परियोजना का कार्य आगे बढ़ाया है। देश में जलमार्गों के सस्ता होने के बावजूद पिछली सरकारों के दौरान आजादी के बाद से देश में मात्र पांच जलमार्ग थे। बंदरगाह और सरकारी कंपनियां घाटे में चल रही थी। अब हमारी सरकार के प्रयासों से स्थिति में सुधार आ रहा है।मोदी ने कहा, ‘ये सारे प्रयास देश को 21वीं सदी की परिवहन प्रणाली प्रदान करेंगे जो ‘न्यू इंडिया’ की दिशा में महत्वपूर्ण कदम होगा।’ मोदी ने कहा, ‘पिछले 15 वर्षों में गुजरात ने अपने बंदरगाहों की क्षमता में चार गुना वृद्धि की है। मोदी ने कहा कि सरकार का नया मंत्र ‘पी फार पी’ है जिसका आशय समृद्धि के लिए बंदरगाह है और उनकी सरकार देश के बंदरगाहों की आधारभूत संरचना और कनेक्टिविटी को मजबूत बनाने पर विशेष ध्यान दे रही है। बंदरगाह समृद्धि के प्रवेश द्वार हैं और इस दिशा में हम खास ध्यान दे रहे हैं।

 

POPULAR ON IBN7.IN