हिमाचल प्रदेश विधान सभा चुनाव 2017: 9 नवंबर को चुनाव, 18 दिसंबर को नतीजे

चुनाव आयोग ने गुरुवार को नई दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस करके हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान कर दिया। उम्मीद जताई जा रही थी कि गुजरात विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान भी आज ही हो जाएगा। लेकिन चुनाव आयोग ने गुजरात की तारीखों का ऐलान नहीं किया है। अब गुजरात चुनाव की तारीखों का ऐलान किसी और दिन होगा। हालांकि, चुनाव आयोग ने कहा कि गुजरात विधानसभा के चुनाव 18 दिसंबर से पहले होंगे।

हिमाचल प्रदेश में एक ही चरण में चुनाव होंगे। चुनाव की तारीखों का ऐलान होते ही प्रदेश में आचार-संहिता लागू हो गई है। 16 से 23 अक्टूबर तक नामांकन भरने की तारीख है। 9 नवंबर को हिमाचल प्रदेश में चुनाव होंगे। वहीं चुनाव के नतीजे 18 दिसंबर को आएंगे। हिमाचल प्रदेश में सभी पोलिंग स्टेशनो पर वीवीपीएटी का इस्तेमाल होगा। ऐसा देश में पहली बार किसी चुनाव में हो रहा है।

चुनाव आयोग की प्रेस कॉन्फ्रेंस के अहम अंश-

-हिमाचल प्रदेश में आज से आचार संहिता लागू हो गई।
-सभी पोलिंग स्टेशनो पर वीवीपीएटी का इस्तेमाल होगा। फोटो वोटर आईडी का इस्तेमाल होगा। वोट देने के बाद हर मशीन से पर्ची निकलेगी।
-देश में पहली बार किसी राज्य में चुनाव में वीवीपीएटी का इस्तेमाल होगा।
–चुनाव कार्यक्रम की योजना ऐसे तैयार की गयी है कि हिमाचल के नतीजों का असर गुजरात के चुनावों पर न पड़े।
-हर उम्मीदवार चुनाव प्रचार में 28 लाख रुपए खर्च कर सकता है।
-सभी पोलिंग बूथ और रैलियों की वीडियोग्राफी होगी।
-नामांकन फॉर्म के सभी कॉलम भरने होंगे।
-पहली बार हिमाचल प्रदेश में 136 पोलिंग बूथ पर सभी कर्मचारी महिलाएं होंगी।
-16 से 23 अक्टूबर तक नामांकन भरे जा सकते हैं। -हिमाचल प्रदेश में 16 अक्तूबर को अधिसूचना जारी होने के साथ चुनाव प्रक्रिया शुरू होगी, नामांकन भरने की आखिरी तारीख 23 अक्तूबर होगी।
-9 नवंबर को चुनाव होंगे।
-18 दिसंबर को नतीजे आएंगे।

 

बता दें, गुजरात में 182 सदस्यीय विधानसभा का कार्यकाल 22 जनवरी को समाप्त होने वाला है जबकि 68 सदस्यीय हिमाचल प्रदेश विधानसभा का कार्यकाल सात जनवरी को समाप्त होगा।

POPULAR ON IBN7.IN