गुजरात के पूर्व IPS डीजी वंजारा का दावा, अगर मैंने वो एनकाउंडर नहीं किये होते तो आज पीएम नरेंद्र मोदी जिंदा नहीं होते

साल 2005 के सोहराबुद्दीन शेख फ़र्जी एनकाउंटर मामले के मुख्य अभियुक्त गुजरात के पूर्व IPS अधिकारी डीजी वंजारा ने अपने ऊपर लगे फर्जी एनकाउंटरों के आरोप पर बड़ा बयान दिया है। वंजैरै ने कहा कि उन्होंने कोई भी फेक एनकाउंटर नहीं किया। जो भी एनकाउंटर हुए वो सब कानून के दायरे में हुए थए। अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए वंजारा ने ये तक कह दिया कि अगर वो ये एनकाउंटर नहीं करते तो फिर आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जिंदा नहीं होते। गुजरात एंटी टेररिस्ट स्क्वॉड के प्रमुख रह चुके डीजी वंजारा ने ये बातें अहमदाबाद में एक कार्यक्रम के दौरान कहीं।

कयास लगाए जा रहे हैं कि वंजारा गुजारत विधानसभा का चुनाव लड़ना चाहते हैं। इसी के चलते जेल से रिहा होने के बाद वो अब तक 50 से अधिक जन सभाओं और कार्यक्रमों में भाग ले चुके हैं। अहमदाबाद के ऐतिहासिक टैगोर हॉल में लोगों को संबोधित करते हुए डीजी वंजारा ने कहा कि मुझ पर जिन एनकाउंटर्स को फर्जी बता कर आरोप लगाएं गए हैं, अगर वो नहीं होते तो गुजरात कश्मीर बन गया होता।

 

वंजारा जिस तरह से अपने सम्मान में आयोजित जनसभाओं और कार्यक्रमों में बोल रहे हैं उससे तो यही लग रहा है कि वो बीजेपी के टिकट पर अपना राजनीतिक करियर शुरू कर सकते हैं। हालांकि ना तो बीजेपी और ना ही वंजार की तरफ से खुल कर इस बारे में अभी तक कोई बयान आया है।