गुजरात में बैंकों पर नकदी समस्या से त्रस्त लोगों ने किया हमला

 

अहमदाबाद:  नोटबंदी के बाद नकदी की समस्या से त्रस्त लोगों ने सोमवार को गुजरात के दो जिलों में बैंक की शाखाओं पर हमला कर दिया। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। अमरेली जिले के समढियाला गांव में भारतीय स्टेट बैंक और देना बैंक की शाखाओं के बाहर सैकड़ों की संख्या में लाइन लगाए लोगों में तब गुस्सा फूट पड़ा जब उन्हें बताया गया कि बैंक में नकदी खत्म हो गई है।

भीड़ ने गुस्से में बैंक की शाखाओं पर ताला जड़ दिया।

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार भीड़ में अधिकांश व्यक्ति पेशे से किसान थे।

सुरेंद्रनगर जिले में भीड़ ने कुछ बैंकों की शाखाओं में तोड़फोड़ की और दरवाजे तथा खिड़कियां तोड़ डाले। भीड़ द्वारा तोड़फोड़ की वजह शनिवार से लगातार तीन दिन तक बैंक का बंद रहना रहा।

बैंक अधिकारियों ने कहा कि बैंक खोलने का कोई मतलब नहीं था, क्योंकि सोमवार को भी बैंकों को नकदी की आपूर्ति ही नहीं की गई।

केंद्र शासित क्षेत्र दादरा नगर हवेली की राजधानी सिलवासा में एक राष्ट्रीयकृत बैंक के प्रबंधक और अन्य कर्मचारियों के साथ धक्कामुक्की की गई, क्योंकि बैंक के पास लोगों को देने के लिए नकदी ही नहीं थी।

बैंक कर्मचारियों को बचाने के लिए पुलिस को हस्तक्षेप करना पड़ा।