गोवा में रात 10 बजे के बाद तेज संगीत पर प्रतिबंध

गोवा के उत्तरी हिस्से में स्थित पर्यटन के लिए मशहूर समुद्रतटीय इलाकों में रात 10 बजे के बाद तेज संगीत बजाने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। पुलिस ने सोमवार को यह जानकारी दी। प्रतिबंध लगाए जाने के पीछे पुलिस का कहना है कि देर रात चलने वाली रेव पार्टियों या संगीत समारोहों में मादक पदार्थो की बिक्री होती है।

मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर की अध्यक्षता में हुई उच्चस्तरीय बैठक में हिस्सा लेने के बाद पुलिस अधीक्षक (उत्तर गोवा) चंदन चौधरी ने पत्रकारों को बताया कि सप्ताहांत पर लंबी छुट्टी के दौरान भारत के विभिन्न हिस्सों से बड़ी संख्या में युवा पर्यटन के लिए गोवा आते हैं और उनमें से कुछ मादक पदार्थ भी ले आते हैं।

चौधरी ने कहा, "आने वाले दिनों में खुले में पार्टी आयोजित करने और रात 10 बजे के बाद पार्टी करने पर पूर्ण प्रतिबंध लगा दिया जाएगा। जहां कहीं भी संगीत समारोह होता है, वहां मादक पदार्थो के सेवन और अत्यधिक शराब के सेवन की संभावना भी होती है। हम कोशिश करेंगे कि रात 10 बजे की इस समयसीमा को हम कड़ाई से लागू करें।"

उन्होंने कहा, "इससे इनकार नहीं किया जा सकता कि युवाओं को सहज ही मादक पदार्थ मिल जाते हैं और सप्ताहांत पर केरल, बेंगलुरू, हैदराबाद से बड़ी संख्या में यहां युवा आते हैं। उनमें से कुछ अपने साथ मादक पदार्थ भी ले आते हैं और यहां आकर उसका सेवन करते हैं। हम इस पर लगाम लगाने जा रहे हैं।"

उत्तरी गोवा के अंजुना समुद्रतट पर बीते दिनों पार्टी के दौरान कथित तौर पर मादक पदार्थो के सेवन के चलते दो युवकों की मौत हो गई थी, जिसके बाद पर्रिकर ने राज्य सचिवालय में अधिकारियों की यह बैठक बुलाई थी।

चौधरी ने बताया कि बीते दिनों मृत दोनों युवकों के अंत्य परीक्षण में भी उनकी मौत का कारण स्पष्ट नहीं हो सका। हालांकि चौधरी ने कहा कि युवकों की मौत के पीछे मादक पदार्थो के अत्यधिक सेवन का संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता।

POPULAR ON IBN7.IN