'गोवा में जुआघरों के लिए कांग्रेस, भाजपा जिम्मेदार'

गोवा में जुआघरों को बढ़ावा देने के लिए कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) दोनों ही जिम्मेदार है, जबकि विपक्ष में रहते हुए दोनों ने इसका विरोध किया है। यह खुलासा विकिलीक्स ने हाल में सार्वजनिक किए गए एक अमेरिकी राजनयिक संदेश के हवाले से किया। यह संदेश अमेरिकी दूतावास के आर्थिक घटनाक्रमों के विवरणों के साप्ताहिक संकलन का हिस्सा है। संदेश में कहा गया है कि गोवा सरकार उन भारतीय जुआरियों को वापस आकर्षित करना चाहती है, जो अब नेपाल जाकर जूआ खेलते हैं, जहां इसे वैधानिक करार दिया गया है।

तीन अप्रैल, 2008 के संदेश (क्रमांक नई दिल्ली 004 का 00000982 002.2) में कहा गया है, "सबसे पहले कांग्रेस पार्टी ने गोवा में जुआ को अनुमति दी, जब उसने 1992 में गोवा पब्लिक गैम्बिलिंग एक्ट में संशोधन किया और पांच सितारा होटलों में स्लॉट मशीनों को अनुमति दे दी। बाद में कांग्रेसी मुख्यमंत्री प्रतापसिंह राणे के कार्यकाल में समुद्र या नदियों में (ऑफ शोर) टेबल गेम को अनुमति दे दी गई।"

संदेश में कहा गया, "उस समय भाजपा ने इसका विरोध किया था। इसके बावजूद गोवा में सत्ता में आने के बाद भाजपा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर (2000 से 2004 तक पिछले कार्यकाल में) कैसीनो गोवा के संचालन के लिए लाइसेंस दे दिया।"

2012 में कांग्रेस को हराकर भाजपा के शासन में आने के बाद पर्रिकर फिर से गोवा के मुख्यमंत्री हैं।

संदेश में कहा गया है, "हाईस्ट्रीट क्रूजेज के निदेशक जयदेव मोदी ने कहा कि जुआघरों में स्लॉट मशीन, रेस्तरां, मनोरंजन क्षेत्र और संगीत कार्यक्रम सभी होंगे। अगले सात से आठ महीनों में गोवा चार अन्य ऑफशोर कैसीनो स्थापित करना चाहता है। क्योंकि राज्य सरकार भारतीय जुआरियों को नेपाल से फिर से आकर्षित करना चाहती है, जहां जुआघरों को वैध कर दिया गया है।"

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

POPULAR ON IBN7.IN