छत्तीसगढ़ के जंगल में हाथी का बच्चा मरा

रायपुर, 11 मार्च (आईएएनएस/वीएनएस)। छत्तीसगढ़ के तमनार वन परिक्षेत्र के जुनवानी कांटाझरिया जंगल में एक हाथी के बच्चे का शव पाया गया। वन विभाग ने बताया कि हाथी के ढाई साल के बच्चे की मौत प्राकृतिक कारणों से हुआ प्रतीत होता है। नए वनमंडलाधिकारी की उपस्थिति में तीन डॉक्टरों ने हाथी के मृत बच्चे का पोस्टमार्टम कर उसे जंगल मेंही दफना दिया गया।

जानकारी के अनुसार, तमनार वन परिक्षेत्र के कांटाझरिया जंगल स्थित कक्ष क्रमांक 309 में रविवार रात बीट गार्ड ने एक हाथी के बच्चे का सड़ा गला शव देखकर विभाग के आला अधिकारियों को इसकी सूचना दी थी। जिस समय यह सूचना वनमंडल रायगढ़ को मिली, उसी समय नए वन मंडलाधिकारी राजेश पांडेय रायगढ़ पहुंचे थे।

हाथी के बच्चे की मौत की सूचना पाकर वे तत्काल मौके लिए रवाना हो गए और वहां की स्थिति का अवलोकन किया मगर अंधेरा होने के कारण कार्रवाई सुबह के लिए टाल दी गई।

सोमवार सुबह वन अनुमंडलाधिकारी प्रेमलता यादव, रेंजर राम बच्चन तथा वन विभाग के अधिकारी पशु चिकित्सकों की टीम के साथ पहुंचे। टीम ने पोस्टमार्टम करने के बाद हाथी के बच्चे की मौत 15 से 20 दिन पूर्व होने की पुष्टि की। रिपोर्ट में बताया गया कि मृत हाथी के शरीर पर ताजा चोट के निशान नहीं हैं, जिससे लगता है कि इसकी मौत किसी बीमारी के कारण स्वाभाविक रूप से हुई है।

गौरतलब है कि इससे पहले भी रायगढ़ वनमंडल के छाल, तमनार ओर बंगुरसिया वन क्षेत्रों में हाथी और उसके बच्चे की मौत हो चुकी है।

POPULAR ON IBN7.IN