छत्तीसगढ़ में 350 गायों की मौत का प्रायश्चित करेंगे जोगी

भाजपा शासित छत्तीसगढ़ की गौशालाओं में 350 से ज्यादा गायों की मौत को 'सामूहिक गोहत्या' करार देते हुए इसके विरोध में रायपुर के कटोरा तालाब स्थित सागौन बंगले से रविवार को छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस की रैली निकली। पार्टी प्रमुख अजीत जोदी ने कहा कि राज्य की धरती पर गायों की मौतों का वह शास्त्रों के अनुसार प्रायश्चित करेंगे। पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने अपने निवास पर पत्रकारों से कहा, "गाय हमारी माता है। डॉ. रमन सिंह की सरकार ने भले ही इसे व्यापार बनाया हो, लेकिन छत्तीसगढ़ की धरती में हुए इस पाप के लिए शास्त्रों के अनुसार हम प्रायश्चित करेंगे।" इसके साथ ही उन्होंने कुछ दूर चलकर रैली को रवाना किया।

छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता सुब्रत डे ने पार्टी के युवा विभाग के अध्यक्ष विनोद तिवारी के साथ प्रदर्शन गाय का मुखौटा पहनकर घुटने के बल खड़े होकर अनोखा प्रदर्शन किया और गायों की मौत के लिए जिम्मेदारों के खिलाफ जुर्म दर्ज करने कलेक्टर कार्यालय में अपर कलेक्टर संजय दीवान को राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा।

सुब्रत डे ने कहा, "दुर्ग और बेमेतरा जिले के राजपुर गोदमर्रा गांव में भाजपा नेता की गौशाला में लगभग 350 से ज्यादा गायों की भूखे रखकर निर्मम हत्या के विरोध में पीड़ा दर्शाई गई है। कार्यकर्ताओं ने नारे लिखी तख्ती पर संदेश के साथ इस कार्यक्रम के माध्यम से जोगी कांग्रेस ने गौशाला में गायों की दशा दिखाने का प्रयास किया है।"

उन्होंने कहा, "छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस ने सत्ताधारियों को यह संदेश दिया कि भ्रष्टाचार में इतना मत गिर जाओ कि मानवता को तुम पर शर्म आए।"

वहीं, विनोद तिवारी ने कहा कि गौशाला में भूख से गायों की मौत दर्दनाक घटना है, जिसने छत्तीसगढ़ ही नहीं, बल्कि समस्त देशवासियों को शर्मसार किया है। मामला सीधे-सीधे गोहत्या का है। निर्दयता से गायों को भूखे-प्यासे मरने के लिए छोड़ दिया गया। यह गाय को माता मानने वाले सभी लोगों की आस्था का अपमान है।

उन्होंने बताया कि विगत तीन वर्षो में करोड़ों रुपये की अनुदान राशि गौशालाओं को दी गई है। पशुओं को चारा और उनकी देखभाल के लिए मिल रहे करोड़ों रुपये के अनुदान का गौ सेवा केंद्र के संचालक और प्रबंधक ने निजी उपयोग किया है और गायों को भूखे मरने के लिए छोड़ दिया गया।

तिवारी ने कहा कि विगत तीन वर्षो से गौ सेवा केंद्र का नियमानुसार ऑडिट तक नहीं हुआ है, जबकि पिछले वर्ष कांकेर जिले में गौ सेवा केंद्र में भूख से सैकड़ों गायों की मौत के बाद छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस (जे) के जांच दल ने सरकार से सभी गौ सेवा केंद्र का ऑडिट कराने और गौ सेवा केंद्रों में गाय पर जीपीएस ट्रैकिंग सिस्टम लगाने की मांग की थी, ताकि उन तस्करों और गायों की हत्या से बचाया जा सके।

युवा जनता कांग्रेस (जे) ने कृषक पशु प्रशिक्षण अधिनियम और पशु क्रूरता अधिनियम के तहत जिम्मेदारों पर अपराध दर्ज करने की मांग करते हुए प्रदर्शन किया।

POPULAR ON IBN7.IN