तालाब के पार मुख्यमंत्री ने लगाई चौपाल

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह बुधवार को प्रदेश व्यापी लोक सुराज अभियान के तहत हेलीकॉप्टर से बलौदाबाजार-भाटापारा जिले के पीपरछेड़ी (विकासखंड कसडोल) गांव अचानक पहुंचे। उन्होंने वहां 'पनखत्ती' सिंचाई तालाब के पार इमली पेड़ की छांव में चौपाल लगाई। तालाब में मनरेगा के तहत चल रहे गहरीकरण के कार्यो का निरीक्षण किया। डॉ. सिंह ने तालाब गहरीकरण में लगे मजदूरों से बातचीत की। मुख्यमंत्री को अचानक अपने बीच पाकर ग्रामीणों में आश्चर्य मिश्रित खुशी देखी गई।

चौपाल में ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री को बताया कि तालाब गहरीकरण में प्रतिदिन लगभग 235 मजदूर काम करते हैं। सिंह ने चौपाल में पीपरछेड़ी के किसानों की पांच साल पुरानी मांग को तत्काल पूर्ण किया। उन्होंने अधिकारियों को गांव के नजदीक भुताही सिंचाई डायवर्सन की क्षतिग्रस्त नहर की मरम्मत तत्काल करवाने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने ग्रामीणों की मांग पर पनखत्ती सिंचाई तालाब में निस्तारी सुविधा के लिए नलकूप खनन की स्वीकृति प्रदान की। उन्होंने स्लूस गेट निर्माण के लिए सात लाख 50 हजार रुपये, पचरी निर्माण के लिए पांच लाख रुपये भी तत्काल मंजूर किए।

उन्होंने ग्रामवासियों के आग्रह पर पीपरछेड़ी में सामुदायिक भवन निर्माण के लिए छह लाख रुपये, रामायण चौक में छत निर्माण और वार्ड नंबर-3 में 200 मीटर सीमेंट कंक्रीट सड़क निर्माण की स्वीकृति तत्काल देने की घोषणा की। उन्होंने चौपाल में गांव के बच्चों से उनकी पढ़ाई के बारे में पूछा साथ ही बच्चों को आशीर्वाद दिया और चॉकलेट भी बांटे। उन्होंने बालिकाओं को लोक सुराज के प्रतीक चिह्न अंकित टोपी भेंट कर सम्मानित किया।