स्टेट बैंक में नौकरी लगाने के नाम पर ठग लिए एक करोड़ रुपये, दिल्ली में चार गिरफ्तार

रायपुर: छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले की पुलिस ने भारतीय स्टेट बैंक में नौकरी लगाने के नाम से एक करोड़ रुपये से ज्यादा की ठगी करने वाले चार आरोपियों को दिल्ली से गिरफ्तार कर लिया है, जबकि तीन अन्य आरोपी फरार हैं.

दुर्ग जिले के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राजेश अग्रवाल ने शनिवार को बताया कि जिले की पुलिस ने छत्तीसगढ़ के लगभग 49 युवकों को एसबीआई में नौकरी लगाने का झांसा देकर एक करोड़ 20 लाख 90 हजार रुपये की ठगी करने के आरोप में बिहार निवासी राहुल श्रीवास्तव (21), उत्तर प्रदेश निवासी अंकित चौहान (23), दिल्ली निवासी अमित कुमार पांडेय (21) और छत्तीसगढ़ निवासी लखन लाल साहू (32) को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि तीन आरोपी इरशाद खान, संदीप सिडहाना और चंदन कुमार फरार है.

अग्रवाल ने बताया कि जिले के सुपेला थाना में विनोद कुमार प्रसाद समेत 49 युवकों ने मामला दर्ज कराया है कि दिल्ली के भारतीय स्टेट बैंक की शाखाओं में नौकरी लगाने के नाम से आरोपियों ने उनसे एक करोड़ रुपये से ज्यादा रकम की ठगी कर ली है.

प्रसाद ने पुलिस को बताया कि जून वर्ष 2015 में इंटरनेट और मैसेज के माध्यम से इरशाद खान नाम के एक व्यक्ति से संपर्क हुआ जिसने दिल्ली के भारतीय स्टेट बैंक की शाखाओं में मंत्री और अन्य कोटे से कर्मचारियों की सीधी भर्ती की बात बताई. इसके बाद इसकी जानकारी प्रसाद ने अपने दोस्तों को दी.

पुलिस अधिकारी ने बताया कि इसके बाद प्रसाद और उनके मित्र इरशाद खान से मिलने दिल्ली पहुंचे वहां उन्होंने बताया कि लगभग एक सौ लोगों को बैंक में भर्ती किया जाना है. इसके एवज में उन्होंने सभी से लगभग चार-चार लाख रुपये की मांग की. इसी तरह आरोपियों ने अन्य लोगों को भी अपना शिकार बनाया.

अग्रवाल ने बताया कि आरोपियों ने पहले पांच लोगों का और बाद में 44 लोगों का बैच बनाया. इनसे फर्जी वेबसाइट के माध्यम से जानकारी मंगाई गई और इस वेबसाइट में सभी का रोल नंबर और रजिस्ट्रेशन नंबर भी डाला गया. अक्टूबर वर्ष 2015 को सभी को साक्षात्कार के लिए दिल्ली बुलाया गया और यहां उनकी मुलाकात अन्य आरोपियों से कराई गई. उन्होंने बताया कि इसके बाद आरोपियों ने जनवरी 2016 से अप्रैल 2016 के मध्य सभी 49 युवकों को एक बार फिर दिल्ली बुलाया और उन्हें दिल्ली में तीन महीने की ट्रेनिंग कराई गई. ट्रेनिंग के बाद आरोपियों ने युवकों से कहा कि उनकी आगे की नौकरी बाद में दी जाएगी और बातचीत बंद कर दी. युवकों को जब ठगे जाने का अहसास हुआ तब उन्होंने इस महीने इसकी शिकायत पुलिस में की.

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ने बताया कि मामला दर्ज करने के बाद पुलिस दल को दिल्ली रवाना किया गया और 20 दिनों तक दिल्ली में रहने के बाद आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया.

उन्होंने बताया कि इस घटना में छत्तीसगढ़ के अलावा उत्तर प्रदेश, आंध्रप्रदेश और दिल्ली की जनता भी ठगी की शिकार हुई है. इन राज्यों की पुलिस से संपर्क किया जा रहा है. इस घटना का मास्टर माइंड राहुल श्रीवास्तव है जो केवल सातवीं कक्षा तक पढ़ा है. वह पहले भी ठगी के मामले में सजा काट चुका है.

POPULAR ON IBN7.IN