छत्तीसगढ़ में सड़क निर्माण तेजी से पूरा किया जाएगा : गडकरी

रायपुर:  केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि छत्तीसगढ़ के सड़कों का निर्माण बहुत जल्द ही पूरा किया जाएगा। उन्होंने रायपुर-बिलासपुर राजमार्ग में हो रहे विलंब पर ध्यान आकृष्ट करते हुए निर्माण कार्य जल्द पूरा करने के निर्देश दिए।

गडकरी ने राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के अधिकारियों को निर्देशित किया कि रायपुर-बिलासपुर, रायपुर-धमतरी और रायपुर-कटघोरा सड़क मार्ग के निर्माण कार्य को समयबद्ध तरीके से पूरा किया जाए।

छत्तीसगढ़ के लोक निर्माण विभाग मंत्री राजेश मूणत के साथ मंगलवार शाम मुलाकात के दौरान उन्होंने कहा कि यह सब प्राथमिकता के कार्य हैं और इसमें किसी भी प्रकार के विलंब को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

बैठक में राजेश मूणत ने छत्तीसगढ़ में सड़क निर्माण के लंबित कार्यो की ओर केंद्रीय मंत्री का ध्यान आकृष्ट किया था। केंद्रीय मंत्री ने रायपुर और दुर्ग के बीच 2500 करोड़ रुपये लागत के एलीवेटेड रोड के संबंध में मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के साथ बैठक कर शीघ्र निर्णय लेने की बात कही।

उन्होंने कहा कि केंद्र और राज्य सरकार दोनों मिलकर इस परियोजना को पूरा करने पर कार्य करेंगे।

बैठक में मूणत ने बताया कि छत्तीसगढ़ में एन.एच.डी.पी. योजना के तहत 18 शहरों में बाईपास का निर्माण किया जा रहा है। उन्होंने केंद्रीय मंत्री से इन 18 शहरों के पुराने कुल 207 किलोमीटर के राष्ट्रीय राजमार्गो के चौड़ीकरण, विद्युतीकरण और अन्य कार्यो के लिए 617 करोड़ रुपये की स्वीकृति प्रदान करने की मांग की।

लोक निर्माण मंत्री ने केंद्रीय सड़क निधि योजना के तहत प्रस्तावित पांच कार्यो की भी शीघ्र स्वीकृति के लिए भी केंद्रीय मंत्री से आग्रह किया। बैठक में सड़क परिवहन मंत्रालय ने छत्तीसगढ़ राज्य में एक हजार 771 किलोमीटर लंबाई के मार्ग को सैद्धांतिक रूप से राष्ट्रीय राजमार्ग घोषित करने पर अपनी सहमति दी है।

उन्होंने इन मार्गो में से 714 किलोमीटर मार्गो के डी.पी.आर. तैयार करने के लिए कंसल्टेंट नियुक्त करने के प्रस्ताव को शीघ्र अनुमोदित करने का आग्रह किया।

इसके अतिरिक्त राजेश मूणत ने भारत माला कार्यक्रम के तहत पांच आर.ओ.बी. निर्माण के प्रस्तावित कार्यो को स्वीकृत करने का भी अनुरोध किया।

बैठक में केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्रालय और राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के अधिकारी भी उपस्थित थे।

  • Agency: IANS