छत्तीसगढ़ में अब तक जमा हुए 20160 करोड़ के पुराने नोट

रायपुर: मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने दस दिवसीय अमेरिका प्रवास के बाद मंगलवार को नई दिल्ली से रायपुर लौटने के तुरंत बाद मंत्रालय (महापदी भवन) में विभिन्न बैंकों के राज्य स्तरीय अधिकारियों की बैठक की। बैठक में अधिकारियों ने बताया कि केंद्र द्वारा नोटबंदी के फैसले के बाद अब तक राज्य की बैंकों में 20 हजार 160 करोड़ रुपये के पुराने नोट जमा हो चुके हैं। (22:19) 

मुख्यमंत्री ने नोटबंदी के बाद जनता को लेन-देन के लिए वैकल्पिक सुविधाएं दिलाने के उद्देश्य से वित्त विभाग, वाणिज्य, उद्योग विभाग और श्रम विभाग तथा बैंकों द्वारा परस्पर समन्वय से किए जा रहे प्रयासों की प्रशंसा की।

वहीं राज्य में किसानों द्वारा 15 नवंबर से अब तक दो हजार 274 करोड़ रुपये का धान खरीदा जा चुका है। उन्हें भुगतान के लिए जिला सहकारी केंद्रीय बैंकों को अब तक 606 करोड़ रुपये दिए जा चुके हैं।

इसमें से किसानों को 462 करोड़ रुपये का ऑनलाइन भुगतान किया जा चुका है। प्रत्येक किसान को हफ्ते में एक बार 25 हजार रुपये के मान से राशि निकालने की भी सुविधा दी जा रही है। श्रम विभाग द्वारा औद्योगिक क्षेत्रों में विशेष शिविर लगाकर खाता रहित लगभग 40 हजार मजदूरों के बैंक खाते खुलवाए गए हैं।

राज्य में प्रधानमंत्री जन-धन योजना के तहत एक करोड़ 18 लाख बैंक खाते खोले जा चुके हैं। इनमें कुल 1820 करोड़ रुपये जमा हुए हैं, जबकि नोटबंदी के बाद चार सौ करोड़ रुपये और जमा किए गए हैं।

राज्य में लगभग 79 लाख जन-धन खातेधारकों को रूपे कार्ड जारी हो चुके हैं। राज्य के 2800 एटीएम में से एक दिसंबर तक 1877 एटीएम मशीनों को नए सिरे से चालू किया जा चुका है।

मुख्यमंत्री ने बैठक में इस बात पर संतुष्टि जताई कि राज्य शासन के वाणिज्य और उद्योग विभाग और वित्त विभाग द्वारा कारोबारियों को पाइंट ऑफ सेल (पीओएस) मशीन दिलाने के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है। राज्य में लगभग 6300 दुकानदारों के पास पूर्व से पीओएस मशीनें उपलब्ध हैं। वहीं अब तक लगभग 42 हजार पीओएस के आवेदन प्राप्त हो चुके हैं।

POPULAR ON IBN7.IN