छत्तीसगढ़ में 'बोहार भाजी' की बहार

छत्तीसगढ़ के बाजारों में गर्मी के मौसम में 'बोहार भाजी' का जादू सर चढ़कर बोलता है। हालांकि यह भाजी अभी आम लोगों के जायके से बाहर है और खास लोगों की थाली तक ही सीमित है। वर्तमान में राजधानी के बाजारों में इस छत्तीसगढ़िया भाजी की कीमत लगभग 150 रुपये प्रति किलो है, लेकिन गर्मी बढ़ते जाने के साथ इसकी कीमत घटती जाएगी। गर्मी के चलते थोड़ी-बहुत साक-सब्जी कम होने के बाद भी बाजार में हरी सब्जियों की आवक बनी हुई है, जिसके चलते अन्य हरी सब्जियों का भाव नियंत्रण में है।

शास्त्री बाजार में सब्जी खरीदने पहुंची नीलिमा साहू और गायत्री गुप्ता ने बताया कि इस बार बाजार में सब्जियों में ज्यादा कमी नहीं आई है। 'बोहार भाजी' के लिए उपयुक्त मौसम होने के बाद भी बाजार में अभी आवक कम है। यही कारण है कि यह भाजी अभी तक 'खास' बनी हुई है और मध्यमवर्गीय परिवार की पहुंच से दूर है।

इस साल आम की फसल कुछ कम होने से अचार के लिए कच्चे आम की कीमत चढ़ कर बोल रही है। आचार के लिए कुछ दुकानदार कटे हुए आम 20 रुपए किलो तक बेच रहे हैं। सब्जी विक्रेता कन्हैया वर्मा और संतोष राजपूत ने बताया कि बाजार में कच्चे आम की आवक शुरू हो गई है, लेकिन अचारी आम के दाम अभी भी आसमान छू रहे हैं। दुकानदारों का मानना है कि चार-पांच दिन से आम की आवक बढ़ रही है। उम्मीद है कि अगले सप्ताह तक कच्चे आम की कीमत में कमी आएगी।

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

POPULAR ON IBN7.IN