छत्तीसगढ़ : वेटनरी कालेज अंजोरा में बर्ड फ्लू की दस्तक

दुर्ग: छत्तीसगढ़ के कामधेनु विश्वविद्यालय के अंतर्गत पशु चिकित्सा एवं पशु पालन महाविद्यालय अंजोरा में लगातार वनराज मुर्गियों के मरने की घटना तथा भोपाल से इसका कारण बर्ड फ्लू होने की आशंका का संकेत मिलते ही प्रबंधन द्वारा एहतियाती उपाय शुरू कर दिए गए हैं। वनराज मुर्गियों सहित जितनी भी मुर्गियां महाविद्यालय परिसर में उपलब्ध थीं उन सभी को नष्ट कर दफन करा दिया गया है। (19:38) 

रायपुर से पोल्ट्री मैनेजर छत्तीसगढ़ शासन आर.ए.पाण्डेय भी अंजोरा पहुंच गए हैं और वे यहां एक अतिरिक्त कमरे में कंट्रोल रूम बनाकर इस पूरे मामले में कड़ी नजर रखते हुए महाविद्यालय प्रबंधन का मार्गदर्शन करेंगे। इस संबंध में महाविद्यालय के अधिष्ठाता डॉ. एस.पी.तिवारी द्वारा कलेक्टर से लेकर मंत्रालय तक स्वास्थ्य विभाग, राजस्व विभाग सभी संबंधित विभागों को नियमानुसार सूचनाएं भेज दी गई है।

महाविद्यालय के अधिष्ठाता से संपर्क साधने पर उन्होंने बताया कि जैसे ही वनराज मुर्गियों की लगातार मरने की घटनाएं सामने आई, मुर्गियों के नमूने जरूरी जांच के लिये भोपाल लैब भेज दिया गया है। वहां से अभी तक अधीकृत जांच रिपोर्ट नहीं मिली है किंतु मौखिक तौर पर बता दिया गया कि इन मुर्गियों के मरने के पीछे बर्ड फ्लू की बीमारी होने के आसार हैं।

यहां इस सूचना के आधार पर न सिर्फ वनराज मुर्गियां बल्कि अन्य किस्म की मुर्गियों को भी मारकर जमीन से 6 फुट नीचे गड्ढे में नियमानुसार गाड़ दिया गया है। चूना, नमक इत्यादि के साथ इन मुर्गियों को दफनाये जाने के बाद अब इस बीमारी व इसके साइड इफेक्ट का खतरा भी नहीं रह गया है।

जिला प्रशासन की ओर से अब तक इस परिप्रेक्ष्य में कोई कार्रवाही की जानकारी नहीं मिल पायी है।

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

 

POPULAR ON IBN7.IN