छत्तीसगढ़ : ट्रायबल टूरिज्म सर्किट के लिए 100 करोड़ रुपये स्वीकृत

रायपुर: छत्तीसगढ़ सांस्कृतिक, ऐतिहासिक, धार्मिक तथा प्राकृतिक विविधता से संपन्न राज्य है। प्रदेश में पर्यटन की अपार संभावनाएं हैं। पर्यटन गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए प्रदेश एवं प्रदेश के बाहर से आने वाले पर्यटकों को जरूरी सुविधाएं मुहैया कराने के लिए पर्यटन योजनाओं पर तेजी से कार्य किए जा रहे हैं। ट्रायबल टूरिज्म के विकास के लिए भारत सरकार पर्यटन मंत्रालय से 2015-16 में 99 करोड़ 94 लाख रुपये की राशि स्वीकृत कराई गई। 

छतीसगढ़ पर्यटन मंत्रालय से जारी विज्ञप्ति के अनुसार, प्रदेश की आदिवासी संस्कृति से पर्यटकों को परिचित कराने के लिए ट्रायबल टूरिज्म सर्किट के विकास के लिए भारत सरकार पर्यटन मंत्रालय से वर्ष 2015-16 में 99 करोड़ 94 लाख रुपए की स्वीकृति राज्य शासन के प्रयास से कराई गई।

पर्यटन गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए प्रदेश एवं प्रदेश के बाहर से आने वाले पर्यटकों को जरूरी सुविधाएं मुहैया कराने के लिए पर्यटन योजनाओं पर तेजी से कार्य किए जा रहे हैं। इसके तहत जशपुर, कुनकुरी, मैनपाट, अंबिकापुर, महेशपुर, रतनपुर, कुरदर, सरोधा दादर, गंगरेल, कोंडागांव, नथियानवागांव, जगदलपुर, चित्रकोट एवं तीरथगढ़ को शामिल किया गया है। 

इसके अंतर्गत आदिवासी थीम को लेते हुए इस सर्किट में पर्यटन संरचनाओं एवं सुविधाओं का विकास किया जा रहा है। इसी प्रकार से राज्य के विभिन्न पर्यटन स्थलों का विकास किया जा रहा है। जिसमें जिला बस्तर (जगदलपुर) में पर्यटन सूचना केंद्र के निर्माण के लिए 32 लाख रुपये कलेक्टर बस्तर को जारी किए गए। जगदलपुर में लामनी पार्क एवं चौक-चौराहों के सौंदर्यकरण के लिए 25 लाख रुपये के कार्य कराने हेतु प्रदान किए गए हंै।

तीरथगढ़ में मोटल निर्माण एवं चित्रकोट तथा तीरथगढ़ में चेनलिंक फेंसिग का कार्य कराया गया है। जिला महासमुंद के प्रसिद्ध पर्यटन स्थल सिरपुर में कांवर यात्रियों के लिए अस्थाई टेंट बनाया गया है। सिरपुर में सामुदायिक भवन निर्माण के लिए 30 लाख 50 हजार रुपये की स्वीकृति दी गई। यहां पर डेस्टिनेशन विकास कार्य के अंतर्गत पाथवे, सीटिंग अरेंजमेंट, सुलभ शौचालय, टायलेट ब्लॉक एवं सीटिंग व्यवस्था का कार्य पूर्ण कर लिया गया है। 

बलौदाबाजार जिला में केंद्रीय परियोजना गिरौधपुरी गंतव्य स्थल का विकास के अंतर्गत गिरौधपुरी पर्यटक शॉप एवं श्रद्धालुओं के लिए डे-शेल्टर का निर्माण, ओपन एंफीथिएटर, सौंदर्यकरण टायलेट एवं सोलर प्रकाशीकरण के लिए 4 करोड़ 26 लाख 37 हजार रुपये स्वीकृत किए गए।

--आईएएनएस 

 

POPULAR ON IBN7.IN