लोकसभा और विधानसभा चुनाव साथ-साथ कराने की तुरंत संभावना नहीं : नीतीश कुमार

 बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि लोकसभा और विधानसभा चुनाव साथ-साथ कराए जाने की अभी संभावना नहीं है. उन्होंने कहा, "लोकसभा और विधानसभा चुनाव साथ-साथ कराए जाने की तुरंत संभावना नहीं लगती है क्योंकि इसके लिए जरूरी संवैधानिक बदलावों में समय लगेगा."

 

हालांकि जदयू अध्यक्ष ने कहा कि वे चुनाव साथ साथ कराए जाने के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के विचारों का समर्थन करते हैं. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने सोमवार को संसद के संयुक्त सत्र के संबोधन के दौरान साथ-साथ चुनाव कराने की वकालत की थी और मोदी ने भी इसका समर्थन किया है.

 

कुमार ने कहा कि एक साथ चुनाव कराए जाने से चुनावों का खर्च कम होगा और निर्वाचित सरकारों को विकास करने के लिए ज्यादा समय मिलेगा. हालांकि उन्होंने कहा, ‘‘इसके लिए संवैधानिक जरूरतों को पूरा करना होगा और इसमें काफी समय लगेगा. लोकसभा और विधानसभा चुनाव तुरंत एक साथ कराए जाने की तुरंत कोई संभावना नहीं है.’’

 

बता दें कि कुछ दिन पहले जेडीयू के राष्ट्रीय महासचिव(संगठन) आरसीपी सिंह ने कहा था कि बिहार विधानसभा के चुनाव 2020 में ही होंगे और हमारी पार्टी दोनों चुनावों को ध्यान में रखकर अपनी तैयारी भी कर रही है. जेडीयू अध्यक्ष नीतीश कुमार की अध्यक्षता में पार्टी कार्यकारिणी की बैठक में यह फैसला किया गया था. यह कयास लगाया जा रहा था कि 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव के समय ही बिहार विधानसभा चुनाव कराया जा सकता है.

POPULAR ON IBN7.IN