नीतीश का विकास मॉडल दलित विरोधी : शरद यादव

जनता दल (युनाइटेड) से अलग हुए पूर्व सांसद शरद यादव ने यहां बुधवार को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए कहा कि नीतीश का विकास मॉडल दलित विरोधी है। जद (यू) के पूर्व अध्यक्ष शरद बुधवार को बक्सर जिले के नंदन गांव पहुंचे, जहां पिछले दिनों विकास समीक्षा यात्रा के दौरान नीतीश कुमार के काफिले पर लोगों द्वारा पथराव किया गया था। यहां पर यादव ने महापंचायत लगाई और नीतीश और केंद्र सरकार पर जमकर भड़ास निकाली। 

उन्होंने नीतीश पर ईमान बेचकर सरकार चलाने का आरोप लगाते हुए कहा कि बिहार के लोगों ने महागठबंधन को जनादेश दिया था, परंतु नीतीश ने उस जनादेश का अपमान किया है। नीतीश के विकास मॉडल को दलित विरोधी बताते हुए यादव ने कहा कि बिहार में शराबबंदी पूरी तरह फ्लॉप है। शराबबंदी को लेकर केवल गरीबों को जेल भेज दिया जा रहा है। 

उन्होंने बिहार में सरकार के सात निश्चयों को भी पूरी तरह असफल बताते हुए कहा कि बिहार में विकास के सारे काम ठप्प हैं। 

उन्होंने नीतीश पर अहंकार में चूर होने का आरोप भी लगाया। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार में दलितों को अधिकार मांगने पर लाठियां चलवाई जा रही हैं। समय आने पर यहां की जनता नीतीश को जवाब देगी। 

केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि सरकार की गलत नीतियों और नोटबंदी के कारण बेरोजगारों की संख्या बढ़ रही है। जिन्हें रोजगार था वह भी अब बेरोजगार हो गए हैं। इस महापंचायत में पूर्व सांसद अली अनवर ने भी शिरकत की। 

उल्लेखनीय है कि 12 जनवरी को नीतीश अपनी विकास समीक्षा यात्रा के दौरान नंदन पहुंचे थे, जहां ग्रामीणों ने उनके काफिले पर पथराव किया था। इस घटना के बाद इस गांव में नेताओं के पहुंचने का सिलसिला जारी है। 

POPULAR ON IBN7.IN