बिहार में नीतीश की अगुवाई में भ्रष्टाचार की गंगा बह रही : तेजस्वी

बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री और बिहार विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी प्रसाद यादव ने भागलपुर के बटेश्वरस्थान गंगा पंप नहर सिंचाई परियोजना में उद्घाटन के पूर्व कैनाल की दीवार टूट जाने को लेकर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि बिहार में नीतीश कुमार की अगुवाई में भ्रष्टाचार की गंगा बह रही है। तेजस्वी ने आरोप लगाते हुए कहा, "नीतीश कुमार की अगुवाई में बिहार में भ्रष्टाचार की भयावह गंगा बह रही है। इस भ्रष्टाचार रूपी गंगा का प्रवाह इतना तेज है कि बड़े-बड़े घोटाले बांध तोड़ रहे हैं। मंगलवार को 828 करोड़ रुपये की लागत से भागलपुर के कहलगांव में बना बांध और नहर टूट गया।"

उन्होंने कहा कि देश जान रहा है कि बिहार सरकार में अब कैसे 'चूहे' भ्रष्टाचारी बन गए हैं? अब मिट्टी नहीं सीमेंट और कांक्रीट के बांध और नहर को भी ये सरकारी सरपरस्ती में कुतर रहे हैं।

उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों जलसंसाधन मंत्री ललन सिंह बिहार में तटबंध टूटने का कारण चूहे को बताया था।

तेजस्वी ने आरोप लगाते हुए कहा कि बिहार में जल संसाधन विभाग भ्रष्टाचार का गढ़ और लूट का सबसे बड़ा अड्डा बन चुका है। नीतीश की सरपरस्ती में जल संसाधन विभाग में बाढ़ कटाव, बाढ़ राहत में लगातार घोटाले हो रहे हैं। नहर और बांध निर्माण-मरम्मती में संवेदकों और अभियंताओं की मिलीभगत से क्या नीतीश जी अवगत नहीं हैं?

उन्होंने सवालिया लहजे में कहा, "नैतिकता की बड़ी-बड़ी बातें करने वाले नीतीश कुमार जल संसाधन विभाग में हो रहे घोटालों पर कोई संज्ञान क्यों नहीं लेते? उनकी ऐसी क्या मजबूरियां हैं, जो इस विभाग के भ्रष्टाचार पर आंखें मूंद लेते हैं? एक मुख्यमंत्री के लिए इससे बड़ी प्रशासनिक विफलता क्या होगी, जो उनके उद्घाटन करने से महज कुछ घंटो पहले ही जनता का 828 करोड़ रुपये भ्रष्टाचार की गंगा में बह जाता है।"

राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद के पुत्र तेजस्वी ने कहा कि भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की बात करने वाले मुख्यमंत्री के सामने प्रतिदिन हजारों करोड़ रुपये के घोटाले उजागर हो रहे हैं, फिर भी पता नहीं किस नैतिकता के आधार पर ईमानदारी का ढोल पीटते रहते हैं।

उन्होंने कहा, "जब तक राजद सरकार में थी, एक भी घोटाला नहीं हुआ। राजद बड़ी पार्टी थी और उसमें नीतीश जी के भ्रष्ट सिपहसलारों को घोटाले करने की छूट नहीं थी, शायद इसलिए उनका दम घुट रहा था।"

उल्लेखनीय है कि भागलपुर में करोड़ों रुपये की लागत से बना बटेश्वरस्थान गंगा पंप नहर सिंचाई परियोजना के उद्घाटन से पहले ही मंगलवार को कैनाल की दीवार टूट जाने से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का बुधवार को उद्घाटन कार्यक्रम रद्द कर दिया गया है।

POPULAR ON IBN7.IN