updated 4:04 AM CST, Feb 20, 2017
ताजा समाचार

बिहार : शराब माफियाओं का पुलिस पर हमला, 2 थाना प्रभारी घायल

 

पटना:  बिहार की पुलिस अब शराब माफियाओं के निशाने पर आ गई है। राज्य में पिछले 12 घंटों के दौरान पटना और मुजफ्फरपुर जिले के दो अलग-अलग क्षेत्रों में शराब माफियाओं द्वारा पुलिस दल पर किए गए हमलों में दो थाना प्रभारी सहित तीन लोग गंभीर रूप से घायल हो गए हैं, जबकि दो पुलिस वाहन क्षतिग्रस्त कर दिए गए हैं। पुलिस के अनुसार, मुजफ्फरपुर जिले के पारू स्थित ठेंगपुर गांव में छापेमारी करने गई गोपालगंज की पुलिस टीम पर शराब माफियाओं ने मंगलवार की देर शाम धारदार हथियार से हमला कर दिया।

इस हमले में कुचायकोट के थाना प्रभारी महेंद्र कुमार, मोहम्मदपुर के थाना प्रभारी मुन्ना कुमार और कुचायकोट थाने के चौकीदार कृष्णा यादव गंभीर रूप से जख्मी हो गए। सभी पुलिस वाले सादी वर्दी में छापेमारी करने गए थे। महेंद्र की हालत ज्यादा गंभीर बनी हुई है।

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि एक सप्ताह पूर्व कुचायकोट थाना क्षेत्र में 445 कार्टन यानी 7140 बोतल अंग्रेजी शराब पकड़ी गई थी। यह शराब एक ट्रक से पंजाब से मुजफ्फरपुर लाई जा रही थी।

गिरफ्तार ट्रक चालक अशोक सिंह के बयान पर दर्ज की गई प्राथमिकी में कहा गया था कि यह शराब मुजफ्फरपुर के ठेंगपुर गांव के अजय राय और रेवाघाट के मंटु सिंह ने मंगवाई थी। इसी क्रम में पुलिस ठेंगपुर गांव पहुंची थी।

मुजफ्फरपुर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक विवेक कुमार ने बुधवार को बताया कि घटना की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंचकर मामले की जांच कर रही है।

पुलिस की विशेष टीम ने बताया कि गोपालगंज पुलिस टीम के पारू में आने की जानकारी नहीं दी गई थी। फिलहाल जख्मी पुलिसकर्मियों का इलाज कराया जा रहा है।

इधर, पटना के मसौढी थाने के संघतपर मुसहरी गांव में मंगलवार की रात देसी शराब बनने की सूचना पर छापेमारी करने गई पुलिस पर शराब से जुड़े धंधेबाजों ने पथराव कर दिया। इस घटना में पुलिस के दो वाहन क्षतिग्रस्त हो गए।

मसौढी के थाना प्रभारी आशुतोष कुमार ने बताया कि हमला करने वालों में कई शराब धंधेबाज शामिल हैं। उनकी पहचान की जा रही है।

उल्लेखनीय है कि बिहार में पिछले साल अप्रैल महीने से पूर्ण शराबबंदी लागू है।

Poker sites http://gbetting.co.uk/poker with all bonuses.