बिहार में शराबबंदी के बाद वाहनों की बिक्री बढ़ी : नीतीश

 

अररिया:  बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने यहां बुधवार को कहा कि बिहार में शराबबंदी के बाद न केवल लोगों के घरों में खुशियां लौट आई हैं, बल्कि वाहनों की बिक्री भी अप्रत्याशित रूप से बढ़ गई है। नीतीश ने अपनी निश्चय यात्रा के तीसरे चरण में अररिया में 'चेतना सभा' को संबोधित करते हुए कहा कि बिहार में शराबबंदी के बाद लोगों के पैसे बच रहे हैं, जिसे अन्य चीजों पर लोग खर्च कर रहे हैं।

उन्होंने दावा किया, "राज्य में शराबबंदी के बाद कारों और ट्रैक्टरों की बिक्री में 29 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई है, जबकि मोटरसाइकिल और ऑटो की बिक्री में पिछले आठ महीनों में 31 प्रतिशत से ज्यादा की वृद्धि हुई है।"

उन्होंने कहा कि मिठाइयों की बिक्री में भी इजाफा दर्ज किया गया है, जबकि दूध की बिक्री में 15 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई है। उन्होंने कहा कि एक ओर जहां मिठाइयों की बिक्री में वृद्धि हुई है, वहीं अपराधिक घटनाओं में कमी दर्ज की गई है।

सरकार के सात निश्चयों की चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि युवाओं के रोजगार के लिए सरकार लगातार काम कर रही है। उन्होंने कहा कि प्रत्येक घरों में शौचालय, बिजली और पीने का शुद्ध जल पहुंचे, इसके लिए कार्य प्रगति पर है।

नीतीश कुमार ने कहा, "बिहार में शराबबंदी की चर्चा अब पूरे देश में की जा रही है। कई राज्यों में बिहार की तरह शराबबंदी को लेकर कड़े कानून बनाने की मांग उठ रही है।"

शराबबंदी को लेकर लोगों को जागरूक करने के लिए 21 जनवरी को पूरे बिहार में मानव श्रृंखला बनाए जाने की जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि यह मानव श्रृंखला अब तक की सबसे बड़ी मानव श्रृंखला होगी।

इसके पूर्व मुख्यमंत्री ने वार्ड नंबर 12 महादलित टोले के एक घर में नल और बिजली के कनेक्शन का शुभारंभ किया।

POPULAR ON IBN7.IN