असम में आतंकियों के नोट बदलने पर बैंकों को चेताया

 

गुवाहाटी: असम में अपनी पुरानी मुद्रा को परिवर्तित करने की आतंकी संगठनों की कोशिशों की संभावना के मद्देनजर पुलिस ने बैंकों से लेन-देन की सख्ती से निगरानी का आग्रह किया है। अधिकारियों ने मंगलवार को बताया कि पुलिस ने बैंकों से विशेष रूप से कम आर्थिक संभावना वाले स्थानों में अधिक पैसा जमा करने पर सावधानी बरतने का आग्रह किया है।

एक हालिया बैठक में पुलिस ने रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के गुवाहाटी कार्यालय सहित असम के 14 बैंकों से आतंकियों द्वारा अपने पुराने नोटों को नए नोटों में परिवर्तित करने के लिए इस्तेमाल करने वाले तरीकों पर नजर रखने का आग्रह किया था।

यह बैठक विशेष महानिदेशक (कानून एवं व्यवस्था) कुलाधार सैका की अध्यक्षता में हुई।

बैंकों से सीमा पार व्यापार में शामिल ठेकेदारों और व्यापारियों के माध्यम से पैसे के किसी भी आदान-प्रदान के मामले में राज्य पुलिस को सचेत करने का आग्रह किया गया।

सैका ने आईएएनएस को बताया, "नकदी की कमी ने जबरन वसूली के मामले में आतंकवादियों को विकलांग कर दिया है। पैसे और जबरन वसूली में आतंकवादियों के साथ गुप्त या प्रकट मिलीभगत को आतंकी वित्तपोषण के रूप में लिया जा सकता है।"

असम पुलिस के अनुसार, चारीदेओ और डिब्रूगढ़ जैसे जिलों में आतंकवादियों द्वारा हाल ही में विभिन्न साधनों के माध्यम से पैसे इकट्ठा करने की घटनाओं को देखा गया है। ऐसे ही मामले राज्य के बोडो टेरीटोरियल एरिया डिस्ट्रक्ट्स में भी देखे गए जहां कई आतंकवादियों की गिरफ्तारी हुई है और हथियार जब्त किए गए हैं।