असम : आतंकवादी हमले में 13 मरे, 1 आतंकवादी ढेर

Security personnel take away body of a man killed in Kokrajhar terror attack on Aug 5, 2016. At least 12 civilians were killed on Friday when militants in military fatigues opened random fire at a busy market in Assam's Kokrajhar town. Police said one of the raiders was also killed. (Photo: IANS) Security personnel take away body of a man killed in Kokrajhar terror attack on Aug 5, 2016. At least 12 civilians were killed on Friday when militants in military fatigues opened random fire at a busy market in Assam's Kokrajhar town. Police said one of the raiders was also killed. (Photo: IANS)

गुवाहाटी: असम में साल 2014 के बाद सबसे भयानक आतंकवादी हमले में शुक्रवार को सेना की वर्दी पहने बंदूकधारियों के एक समूह ने कोकराझार में एक भीडभाड़ भरे बाजार में अंधाधुंध गोलीबारी कर 13 लोगों को मौत के घाट उतार दिया। इस दौरान सुरक्षाबलों ने एक हमलावार को भी मार गिराया। पुलिस तथा सेना के अधिकारियों ने कहा कि ऑटोरिक्शा से आए आतंकवादियों का एक समूह साप्ताहिक बाजार पहुंचा और एक हथगोला फेंकने के बाद उन्होंने लोगों पर अंधाधुंध गोलीबारी शुरू कर दी।

हमले में 20 लोग घायल हुए हैं। मृतक व घायल दोनों ही बोडो समुदाय से ताल्लुक रखते हैं। कोकराझार कस्बा गुवाहाटी से 220 किलोमीटर दूर है। यह बोडो जनजाति बहुल क्षेत्र है।

इलाके में पास में ही गश्ती कर रहे सेना के एक दस्ते ने आतंकवादियों को मुंहतोड़ जवाब दिया और एक आतंकवादी को मार गिराया। घटना के बाद सुरक्षाबलों ने अन्य आतंकवादियों को खोजने के लिए तत्काल एक व्यापक तलाशी अभियान शुरू कर दिया है।

अधिकारियों ने हमले का आरोप नेशनल डेमोक्रेटिक फ्रंट ऑफ बोडोलैंड (एनडीएफबी) पर लगाया है, जिसका नेतृत्व आई.के.संगबिजीत करता है और उसपर 10 लाख रुपये का इनाम है।

कोकराझार हमले से आहत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, "हम इसकी कड़ी निंदा करते हैं। केंद्रीय गृह मंत्रालय असम सरकार के संपर्क में है और हालात पर बराबर नजर रखे हुए है।"

रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल सुनीत न्यूटन ने कहा, "एक ऑटोरिक्शा से आए आतंकवादियों ने बालाजन तिनाली इलाके में अंधाधुंध गोलीबारी की, जिसमें 13 लोगों की मौत हो गई, जबकि 20 अन्य घायल हो गए।"

उन्होंने ट्वीट किया, "सेना ने व्यापक तलाशी अभियान शुरू किया है और इसमें विशेषज्ञ सैनिकों व खोजी कुत्तों को लगाया गया है। सेना आतंकवादियों के खिलाफ अपनी कार्रवाई निरंतर जारी रखेगी।"

असम पुलिस के प्रमुख मुकेश सहाय ने कहा कि आसान लक्ष्यों पर वार करना आतंकवादियों की रणनीति होती है। उन्होंने कहा, "हमलावरों की संख्या संभवत: चार-पांच थी।"

सुरक्षाबलों ने घटनास्थल से एक एके-56 राइफल तथा हथगोले बरामद किए हैं।

एनडीएफबी के वार्ता विरोधी गुट ने दिसंबर 2014 में जनजाति समुदाय के 70 लोगों की हत्या कर दी थी, जिसके कारण सुरक्षा बलों को उनके खिलाफ सतत अभियान चलाने को मजबूर होना पड़ा था।

असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने हमले की निंदा करते हुए कहा कि दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

उन्होंने कहा, "हम किसी भी समूह की धमकी को बर्दाश्त नहीं करेंगे। आतंकवादी समूहों से निपटने में सरकार किसी भी दबाव के आगे नहीं झुकेगी।"

मुख्यमंत्री ने मृतकों के परिजनों को पांच-पांच लाख रुपये मुआवजा देने की घोषणा की है।

उन्होंने कहा, "अपराध में शामिल किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा।"

गुवाहाटी से एक चिकित्सा दल कोकराझार के लिए रवाना हो चुका है।

सोनोवाल ने कहा कि उन्होंने मोदी तथा राजनाथ सिंह से बातचीत की है और उनसे कहा है कि हमले में 'विदेशी ताकतों' की संलिप्तता से इनकार नहीं किया जा सकता।

--आईएएनएस 

 

  • Agency: IANS
Poker sites http://gbetting.co.uk/poker with all bonuses.